रोम जाने से रोक जाने पर पीएम पर जमकर बरसीं ममता, कहा, उन्हें मुझसे जलन होती है

ममता ने कहा कि मैं वहां छुट्टी मनाने नहीं जा रही थी, बल्कि भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली थी, अगर यह सरकार इतना ही हिंदुओं की हितैषी है तो उसने एक हिंदू महिला को जाने से क्यों रोका

Publish: Sep 26, 2021, 01:02 PM IST

रोम जाने से रोक जाने पर पीएम पर जमकर बरसीं ममता, कहा, उन्हें मुझसे जलन होती है

कोलकाता। केंद्र सरकार द्वारा रोम जाने से रोके जाने पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर जुबानी हमला बोला है। सीएम ममता ने केंद्र सरकार के रवैए की आलोचना करते हुए कहा है कि पीएम उनसे जलते हैं, इसीलिए उन्हें रोम जाने नहीं दिया गया। 

ममता बनर्जी ने केंद्र के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें विदेश घूमने का कोई शौक नहीं है। वे इटली में भारत का प्रतिनिधित्व करने जाने वाली थीं। यह भारत के सम्मान की बात थी। ममता ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सरकार हिंदुओं के हितों की बात करती है। अगर ऐसा सच में है तो उसने विदेशों में एक हिंदू महिला को भारत का प्रतिनिधित्व करने से वंचित क्यों किया? 

ममता ने कहा कि मैं वहां छुट्टी मनाने नहीं जा रही थी। इटली की सरकार ने मुझे बुलावा भेजा था। दुनिया भर के कई नेता सम्मेलन का हिस्सा बनने वाले थे। भारत से सिर्फ मुझे ही इस सम्मलेन में शिरकत करने के लिए बुलाया गया था।

दरअसल ममता बनर्जी अक्टूबर महीने में रोम में आयोजित होने वाले विश्व शांति सम्मेलन में हिस्सा लेने वाली थीं। इस सम्मेलन में फ्रांसीसी पॉप, जर्मनी चांसलर एंजेला मर्केल भी शिरकत लेने वाली हैं। इसको लेकर ममता बनर्जी को जुलाई महीने के अंत में आमंत्रण भेजा गया था। लेकिन बीते शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार को औपचारिक तौर पर यह सूचना दी कि सीएम ममता सम्मेलन में हिस्सा लेने इसलिए नहीं जा सकतीं क्योंकि यह सम्मलेन मुख्यमंत्री की भागीदारी के लिए अनुरूप नहीं है। 

हालांकि यह पहली बार नहीं है जब ममता बनर्जी को किसी सम्मेलन में हिस्सा लेने से केंद्र सरकार ने रोका हो। इससे पहले 2018 में धर्म संसद में दिए गए स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक भाषण की 125 वीं वर्षगांठ पर ममता बनर्जी को शिकागो जाने से केंद्र सरकार ने रोक दिया था। वहीं इसके बाद ममता बनर्जी का चीन दौरा भी आखिरी समय में रद्द कर दिया गया।