सरहद पर मिली सुरंग, यहीं से आए थे नगरोटा में मारे गए आतंकी

गुरुवार को नगरोटा में मारे गए थे चार पाकिस्तानी आतंकवादी, भारत-पाकिस्तान सीमा पर बीएसएफ़ को मिली सुरंग के ज़रिए भारत में घुसने का शक

Updated: Nov 23, 2020, 09:08 AM IST

सरहद पर मिली सुरंग, यहीं से आए थे नगरोटा में मारे गए आतंकी
Photo Courtesy: Bhaskar

श्रीनगर। सरहद पर बनी उस सुरंग का पता चल गया है, जिससे होकर नगरोटा में मारे गए पाकिस्तानी आतंकवादी भारत में घुसे थे। बताया जा रहा है कि यह सुरंग सीमा से आरपार बनाई गई है, जिसका इस्तेमाल आतंकवादियों ने सीमा पर तैनात जवानों को गच्चा देकर सरहद पार करने के लिए किया था। इस सुरंग का पता जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में तैनात बीएसएफ के जवानों ने लगाया है। 

संदेह यह भी है कि नगरोटा में मारे गए आतंकवादियों से पहले भी इस सुरंग का इस्तेमाल भारत में आतंकियों की घुसपैठ के लिए किया गया होगा। बीएसएफ (जम्मू) के आईजी ने बताया कि माना जा रहा है कि नगरोटा में मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों ने इसी से घुसपैठ की होगी।

जम्मू में बीएसएफ के आई जी एन एस जामवल ने कहा, "ऐसा लगता है कि नगरोटा एनकाउंटर के आतंकियों ने इसी सुरंग का इस्तेमाल किया होगा क्योंकि यह ताजी बनी लग रही है। हमें ऐसा लगता है कि जम्मू हाईवे तक पहुंचने में किसी गाइड ने उनकी मदद की होगी।"

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिरीक्षक एनएस जमवाल और जम्मू क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह के साथ मौके का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा के पास हाल ही में मुठभेड़ की जांच के बाद सुरंग का पता लगा है। पुलिस महानिदेशक ने पत्रकारों को बताया, ''पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से मिली कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को बीएसएफ के साथ साझा किया था जिसने काफी प्रयासों के बाद सुरंग का पता लगा लिया।''

बता दें कि बीते गुरुवार की सुबह, नगरोटा के पास बान टोल प्लाजा पर आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें चार आतंकवादी मारे गए थे। चारों आतंकी गोला-बारूद और हथियार लेकर जम्मू से श्रीनगर जा रहे थे। सुरक्षाबलों ने नगरोटा स्थित बन टोल प्लाजा पर एक ट्रक को रोकने के बाद जांच शुरू की, तो  ड्राइवर ट्रक से छलांग लगाकर भाग खड़ा हुआ। इसके बाद जवानों ने और जांच-पड़ताल शुरू की तो ट्रक के भीतर से फायरिंग होने लगी। करीब दो घंटे के एनकाउंटर के बाद सुरक्षा बलों ने ट्रक को ही उड़ा दिया था।

इस ट्रक में चावल की बोरियों के पीछे छिपकर आतंकी बैठे थे। मुठभेड़ के बाद ट्रक से 4 आतंकियों के शव निकले। इसके साथ ही 11 AK-47 राइफल, 3 पिस्टल, 29 ग्रेनेड, 6 UBGL ग्रेनेड, मोबाइल फोन, कंपास, पिट्‌ठू बैग बरामद किए गए थे।

इस घटना के बाद दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी को विदेश मंत्रालय ने नगरोटा की घटना पर समन किया था। ये आतंकी बड़ी साजिश को अंजाम देना चाहते थे। नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए आतंकवादियों के पास से बरामद चीजों से उनके पाकिस्तान कनेक्शन का पता चला है। कहा रहा है कि आतंकी पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से लगातार संपर्क में थे। एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के पास से पाकिस्तान की एक कंपनी का डिजिटल मोबाइल रेडियो (डीएमआर) बरामद किया गया था।

वहीं, आज फिर जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी गिरफ्तार किए गए, उनके पास से कुछ संदिग्ध सामान बरामद हुआ है। जम्मू और कश्मीर के अवंतीपोरा जिला पुलिस ने इस बात की जानकारी दी है।जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आर्मी ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें से एक व्यक्ति आतंकवादी है, इस बात की पुष्टि की गई है। आपको बता दें कि एक संयुक्त ऑपरेशन के तहत आर्मी इस व्यक्ति को गिरफ्तार करने में कामयाब रही है।