शतरंज की दुनिया के सबसे युवा ग्रैंडमास्टर बने अभिमन्यु मिश्रा, 12 वर्ष की आयु में हासिल की उपलब्धि

अभिमन्यु मिश्रा ने काले मोहरों से खेलते हुए लियोन को हराया, अभिमन्यु ने 2600 रेटिंग हासिल किए

Publish: Jul 01, 2021, 09:09 AM IST

शतरंज की दुनिया के सबसे युवा ग्रैंडमास्टर बने अभिमन्यु मिश्रा, 12 वर्ष की आयु में हासिल की उपलब्धि

नई दिल्ली। भारत के अभिमन्यु मिश्रा ने चेस की दुनिया में एक और कीर्तिमान स्थापित कर दिया है। अभिमन्यु मिश्र चेस के इतिहास के अब तक के सबसे युवा ग्रैंडमास्टर बन गए हैं। अभिमन्यु ने महज़ 12 वर्ष की आयु में यह उपलब्धि हासिल की है। 

अभिमन्यु ने बुधवार को बुडापेस्ट में लियोन को हराकर यह कीर्तिमान स्थापित किया। रिकॉर्ड के मुताबिक अभिमन्यु की उम्र 12 वर्ष 4 महीने और 25 दिन है। अभिमन्यु ने सबसे युवा ग्रैंडमास्टर का खिताब रूस के सर्गेई कर्जाकिन का रिकॉर्ड तोड़ा है। अभिमन्यु मिश्रा ने करीब 19 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा है। 

अभिमन्यु इससे पहले दुनिया के सबसे युवा अंतर्राष्ट्रीय मस्त भी बन चुके हैं। नवंबर 2019 में उन्होंने दस वर्ष की आयु में यह उपलब्धि हासिल की थी। तब उन्होंने भारत के आर प्रागनंदा का रिकॉर्ड तोड़ा था। अभिमन्यू मिश्रा के पिता सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। वे पूरे परिवार के साथ न्यूजर्सी में रहते हैं।