एमपी में आ गया ओमिक्रॉन, सीएम ने बढ़ाई सख्ती

सुबह की चाय और आपके प्रदेश की सर्द-गर्म खबरें सुनें पंकज शुक्ला के साथ सिर्फ हम समवेत पर

Updated: Dec 25, 2021, 08:24 AM IST

हम समवेत मे आज के 'समाचार सारांश' में सुनिए एमपी के अखबारों में छपी खबरें एक साथ। यहां आपको मिलेगी वो खबरें जो आपके लिए जानना महत्वपूर्ण हैं। सिर्फ एक नज़र में 

कोरोना को लेकर सीएम की सख्ती

कोरोना की तीसरी लहर का बढ़ रहा है। प्रदेश में 200 से ज्यादा कोरोना संक्रमण के प्रकरण हो गए हैं। पहले ये सिर्फ इंदौर और भोपाल में आ रहे थे लेकिन धीरे धीरे अन्य जिलों में भी प्रकरण सामने आ रहे हैं। यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  कलेक्टर, कमिश्नर और एसपी को कहा है कि वे यह मानकर चलें कि कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रोन हमारे यहां आ गया है।

सरकार नहीं जानती किसानों की आय

विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान एक बार फिर विधायकों को अपने सवालों के जवाब नहीं मिलने से निराश होना पड़ा। विधायकों के 400 सवालों की जानकारी देने में सरकारी विभाग कोताही बरत रहे हैं। जबकि कृषिमंत्री कमल पटेल ने कहा है कि सरकार को किसानों की आय के बारे में जानकारी नहीं है।

सिंधिया के आगे बीजेपी के दूसरे नेता बोने

एमपी में लंबे समय से अटकी राजनीतिक नियुक्तियां कर दी गई हैं। निगम-मंडलों में  नियुक्तियों में सबसे ज्यादा तवज्जो ग्वालियर चंबल अंचल को दी गई। सिंधिया के कार्यकर्ताओं को 50 फीसदी से भी ज्यादा हिस्सेदारी मिली है, जबकि  ग्वालियर-चंबल से केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष प्रभात झा के समर्थकों के नाम नहीं हैं।