छत्तीसगढ़ में निगम मंडलों की नियुक्ति पर अमित जोगी ने उठाए सवाल

अमित जोगी ने सरकार पर जनता से विश्वासघात का आरोप लगाया, कांग्रेस ने कहा था कि अगर सरकार बनी तो संविदाकर्मियों को नियमित किया जाएगा, लेकिन जनता की अनदेखी कर निगम-मंडलों में नियुक्तियां कर रही है जोगी ने कहा है कि अगर पद पाने वाले सच्चे जनसेवक हैं तो पहले संविदाकर्मियों को नियमित करवाएं फिर पद ग्रहण करें

Updated: Jul 17, 2021, 02:11 PM IST

छत्तीसगढ़ में निगम मंडलों की नियुक्ति पर अमित जोगी ने उठाए सवाल
Photo Courtesy: india.com

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लंबे इंतजार के बाद आखिरकार सरकार ने निगम मंडलों में नियक्तियां कर दी हैं। जिसके बाद अब इस पर राजनीति भी शुरु हो गई है। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने भूपेश बघेल सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने एक ट्वीट संदेश में कहा है कि प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को सत्ता पर बैठाया था कि वे जनता के हितों का ध्यान रखेगी। कांग्रेस ने वादा किया था कि अगर प्रदेश में 15 साल के बीजेपी के शासन को उखाड़ फेंकने में जनता उनका साथ देगी तो कांग्रेस सरकार बनते ही संविदा कर्मचारियों को नियमित कर दिया जाएगा।

अमित जोगी ने सरकार पर जनता से विश्वासघात का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि कांग्रेस सरकार ने जनता से किया गया वादा तो पूरा किया नहीं, लेकिन वह निगम-मंडलों में नियुक्तियां कर जनता के साथ विश्वासघात कर रही है। जोगी ने अपने ट्वीट में चुनौती देते हुए कहा है कि निगम-मंडलों में नियुक्ति पाने वाले नेता अगर जनसेवक हैं तो पहले संविदा कर्मचारियों की नियमित नियुक्ति करवाएं उसके बाद ही पद ग्रहण करें।

 दरअसल पहली लिस्ट करीब एक साल पहले जारी की गई थी। अब सालभर के इंतजार के बाद कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ सरकार के निगम, मंडल और आयोगों में राजनीतिक नियुक्तियों की दूसरी लिस्ट जारी की है। इसे ढ़ाई साल बाद होने वाले चुनावों की तैयारी के तौर पर भी देखा जा रहा है। इस बार प्रदेश में 91 लोगों को निगम मंडलों और आयोगों में स्थान मिला है। वहीं इसमें बोर्ड के अध्यक्षों के 10 पद भी हैं, जो कि पहली लिस्ट में बाकी रह गए थे।

इस लिस्ट को कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से अप्रूवल के बाद ही जारी किया गया है। बहुप्रतिक्षित नियुक्तियों में महासमुंद के पूर्व विधायक अग्नि चंद्राकर को बीज विकास निगम का अध्यक्ष, शाकंभरी बोर्ड का अध्यक्ष जांजगीर-चांपा के रामकुमार पटेल को, सूरजपुर के पूर्व विधायक भानुप्रताप सिंह को ST आयोग का अध्यक्ष, पूर्व IAS सर्जियस मिंज को राज्य वित्त आयोग का अध्यक्ष और जितेंद्र मुदलियार को युवा आयोग के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिली है।

जितेंद्र मुदलियार झीरम घाटी हमले में मारे गए कांग्रेस नेता उदय मुदलियार के बेटे हैं। नव गठित तेलघानी विकास बोर्ड का अध्यक्ष संदीप साहू, सुशील सन्नी अग्रवाल को भवन सन्निर्माण कर्मकार मंडल का अध्यक्ष, रायपुर नगर निगम के पार्षद ज्ञानेश शर्मा को राज्य योग आयोग का अध्यक्ष की जिम्मेदारी मिली है। मुख्यमंत्री अधोसंरचना एवं उन्न्यन विकास प्राधिकरण में आधा दर्जन से ज्यादा विधायकों को स्थान दिया गया है। वहीं चार जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों में भी नए अध्यक्षों की नियुक्ति हुई है।