चुस्ती-फुर्ति के लिए नहाएं ठंडे-ठंडे पानी से, घटेगा मोटापा बढ़ेगी उम्र

ठंडे पानी से नहाना तन और मन दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद है, मोटापा, डिप्रेशन, ब्लडप्रेशर जैसी दिक्कतों से भी बचाता है, बीमारियों का खतरा होता है कम

Updated: Oct 08, 2021, 02:53 PM IST

चुस्ती-फुर्ति के लिए नहाएं ठंडे-ठंडे पानी से, घटेगा मोटापा बढ़ेगी उम्र
Photo Courtesy: carrears

नहाना, यह इंसान के डेली रुटीन का एक जरूरी हिस्सा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह कितना जरूरी है। नहाने के कई फायदे हैं, इससे तन साफ और मन प्रसन्न होता है। लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें नहाने में आसल आता है। या ये कहें कि उन्हें पानी ही पंसद नहीं है। लेकिन इसके फायदों को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है। अगर आप मोटापे से परेशान है तो नहाना आपके लिए वेट कम करने का एक माध्यम हो सकता है। क्योंकि ठंडे पानी से नहाकर बाहर निकलने पर बॉड़ी नॉर्मल टेंपरेचर में आने की कोशिश करती। जिसके लिए शरीर को एक्सट्रा कैलरी बर्न करनी पड़ती है। कैलोरी बर्न होने से मोटापे पर सीधा प्रभाव पड़ता है। इसे रेग्यूलर तौर पर करने से वेट में काफी कमी लाई जा सकती है। अगर इसके साथ आप दूसरे उपाय अपनाएं तो सोने पर सुहागा वाली बात होगी।

ठंडे पानी से नहाने वाले कम होते हैं बीमार

नीदरलैंड में की गई एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि जो लोग ठंडे पानी से नहाते हैं वे गर्म पानी से नहाने वाले लोगों की अपेक्षा कम बीमार पड़ते हैं। दरअसल इस स्टडी के लिए तीन हजार कर्मचारियों को 4 ग्रुप्स में बांट दिया गया। एक ग्रुप को रोजाना गर्म पानी से नहाने के लिए कहा गया। दूसरे ग्रुप को 30 सेकंड ठंडे पानी से नहाने और तीसरे ग्रुप को एक मिनट तक ठंडे पानी से नहाने की हिदायत दी गई।

वहीं चौथे ग्रुप को डेढ़ मिनट तक ठंडे पानी से नहाने को कहा गया। यह प्रक्रिया महीनेभर तक करने को कहा गया था। इसमें कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। जिस ग्रुप ने ठंडे पानी से नहाया था, वे कम बीमार पड़े थे। जानकारों का दावा है कि नहाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, जिसकी वजह से लोग कम बीमार पड़ते हैं। यही वजह रही की ठंडे पानी से नहाने वालों के छुट्टी लेने के मामलों में 29 फीसदी की गिरावट देखी गई। इस स्टडी में शामिल लोगों को ठंडे पानी से नहाना इतना पसंद आया कि करीब 64 फीसदी कर्मचारियों ने ठंडे पानी से नहाना जारी रखा।

त्वचा और बालों के लिए अच्छा है ठंडा पानी

ठंडे पानी से स्नान को प्राथमिकता दी जाती है, इसमें सिलिकॉन वैली भी शामिल है। त्वचा और बाल अच्छे रहते हैं। ठंडा पानी न सिर्फ हमारी त्वचा बल्कि बालों के लिए भी काफी फायदेमंद है। इससे हमारी त्वचा चमकदार बनती है और बाल भी पहले से और ज्यादा मजबूत होते हैं। लेकिन ठंड के मौसम में गुनगुने पानी का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। ठंडे पानी से नहाने से बालों को नुकसान भी हो सकता है।

ठंडे पानी से नहाने से मूड रहता है अच्छा

ठंडे पानी से नहाने से नॉरएड्रेनालाईन में वृद्धि होती है। इससे हार्टरेट और ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। एक रिसर्च में पाया गया कि ठंडे पानी से नहाने से लोगों का मूड भी काफी अच्छा होता है। क्योंकि इससे sympathetic nervous system एक्टिवेट हो जाता है। डिप्रेशन का खतरा भी कम होता है।

ठंडे पानी से नहाने की शुरुआत यूरोप में 19वीं सदी के दौरान हुई थी। इसके पीछे की वहज तब भी हेल्थ ही थी। उस दौरान डॉक्टरों ने कैदियों के उग्र और गुस्सेवाले गर्म मिजाज दिमाग शांत करने के लिए इसकी शुरूआत की थी। वहीं लोगों की तीव्र इच्छाओं को कंट्रोल करने उनमें डर की भावना पैदा करने के लिए जेलों में कैदियों और शरणार्थियों को ठंडे पानी से नहलाने की सिफारिश की थी।