भारतीय मूल के 7 अमेरिकी तकनीकी विशेषज्ञों पर करोड़ों डॉलर के इनसाइडर ट्रेडिंग का लगा आरोप 

इनसाइडर ट्रेडिंग प्रतिबंधित होने के बावजूद अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ट्विलिओ कम्पनी के बारे में जानकारी देकर अनुचित तरीके से कमाया लाभ 

Publish: Mar 29, 2022, 04:08 PM IST

भारतीय मूल के 7 अमेरिकी तकनीकी विशेषज्ञों पर करोड़ों डॉलर के इनसाइडर ट्रेडिंग का लगा आरोप 
courtesy: NDTV

नई दिल्ली। 
भारतीय मूल के 7 व्यक्तियों पर अमेरिका के फेडरल अधिकारियों ने इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोप लगाए हैं। अधिकारियों के अनुसार इन लोगों ने इनसाइडर ट्रेडिंग के जरिये अवैध तरीके से 1 मिलियन डॉलर से अधिक रकम कमाई है। बता दें कि किसी कंपनी के अंदर की जानकारी का लाभ उठाकर गैरकानूनी तरीके से शेयर बेचकर या खरीदकर लाभ कमाना इनसाइडर ट्रेनिंग कहलाता है।
सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ने सोमवार को कहा कि हरि प्रसाद सुरे,लोकेश लगुडु और छोटू प्रभु तेज दोस्त हैं। ये तीनों दोस्त सैनफ्रांसिस्को स्थित क्लाउड कंप्यूटिंग कम्युनिकेशन कम्पनी ट्विलिओ में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। कम्पनी की ओर से की गई शिकायत में ये कहा गया है कि हरि सुरे ने अपने करीबी दोस्त दिलीप कुमार रेड्डी को ट्विलिओ कम्पनी के बारे में सूचना दी, जिससे रेड्डी को कारोबार में फायदा हुआ। कुछ इसी तरह लगुडु ने अपनी प्रेमिका साई नेक्कलापुडी को कम्पनी के बारे में जानकारी दी। लगुडु ने अपने दोस्त अभिषेक धर्मपुरीकर को भी सूचना दी। छोटू प्रभु तेज ने अपने भाई चेतन प्रभु के साथ ट्विलिओ कम्पनी के बारे में जानकारी साझा की। जिससे इन लोगों को फायदा हुआ। 
सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ने 6 मई, 2020 को ट्विलिओ की पहली तिमाही की आय की घोषणा से पहले इनसाइडर ट्रेडिंग के जरिये अवैध रूप से 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक कमाई करने का आरोप इन 7 व्यक्तियों पर लगाया था। कमीशन के अनुसार सुरे, लगुडु और छोटू प्रभु के पास ट्विलिओ के राजस्व से संबंधित डाटा मौजूद था और इन लोगों को मालूम था कि आने वाले समय में इस कम्पनी के स्टॉक की कीमत बढ़ेगी। कम्पनी में इनसाइडर ट्रेडिंग प्रतिबंधित होने के बावजूद इन लोगों ने अपने दोस्तों और करीबियों को कम्पनी के बारे में जानकरी देकर अनुचित लाभ कमाया। सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन की शिकायत के अनुसार इन लोगों ने इनसाइडर ट्रेडिंग के जरिये 1 मिलियन डॉलर से अधिक की कमाई की।