ओमिक्रॉन वैरिएंट से ज्यादा खतरनाक है इसका sub-strain, RTPCR को भी चकमा दे जाता है BA.2 स्ट्रेन

भारत समेत दुनिया के 40 से अधिक देशों में ओमिक्रॉन के sub-strain मिले, ब्रिटेन में 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' घोषित करने की तैयारी, इंदौर में इस स्ट्रेन के 21 मरीजों का खुलासा

Updated: Jan 25, 2022, 11:26 AM IST

ओमिक्रॉन वैरिएंट से ज्यादा खतरनाक है इसका sub-strain, RTPCR को भी चकमा दे जाता है BA.2 स्ट्रेन
Photo Courtesy: aajtak

कोरोना के नित नए वेरिएंट लोगों के लिए मुसीबत बनते जा रहे हैं। अब एक नया वेरिएंट 'स्टील्थ ओमिक्रॉन'  का पता चला है। यह RTPCR  टेस्ट में भी पकड़ में नहीं आ रहा है। यह वेरिएंट यूरोप में मिला है। इसे ओमिक्रॉन वैरिएंट का sub-strain कहा जा रह है। RTPCR में इसका पता नहीं चलने की वजह से यह ज्यादा खतरनाक हो गया है। जिसकी वजह से यूरोप में कोरोना की नई वेव का खतरा पैदा होता जा रहा है। ब्रिटेन की ओर से कहा गया है कि 40 से अधिक देशों में ओमिक्रॉन वैरिएंट की इस sub-strain का पता चल चुका है। जांच में पता नहीं चलने की वजह से 'स्टील्थ ओमिक्रॉन'  याने बीए.2 यूरोप में तेजी से फैल रहा है।

WHO का दावा है कि ओमिक्रॉन के तीन sub-strain का पता चला है, ये BA.1, BA.2 और BA.3 हैं। BA.1 sub-strain पूरी दुनिया में पाया गया है। वहीं BA.2 प्रजाति भी तेजी से फैल रही है। 20 जनवरी तक डेनमार्क BA.2 sub-strain के संक्रमितों की संख्या वहां के एक्टिव मामलों की अपेक्षा लगभग आधी हो गई है। ब्रिटेन के स्वास्थ्य अधिकारियों की मानें तो BA.2 स्ट्रेन को जल्द ही 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' घोषित किया जा सकता है।

और पढ़ें: किसानों की आय बढ़ाने का क्या है थोड़ी थोड़ी पिया करो फार्मूला

BA.2 स्ट्रेन तेजी से फैल रहा है। यह अब तक ब्रिटेन और डेनमार्क के अलावा स्वीडन, नार्वे और भारत में पाया गया है। इंदौर में पिछले 18 दिनों में ओमिक्रॉन के BA.2 सब स्ट्रेन ने 21 केस मिले हैं। जिनमें 6 बच्चे भी शामिल हैं। यह नया स्ट्रेन मरीजों के फेफड़ों पर बुरा असर डाल रहा है। मरीजों को लंग्स को एक प्रतिशत से लेकर 50 प्रतिशत तक प्रभावित कर रहा है।

दुनिया भर के साथ-साथ भारत और फ्रांस के वैज्ञानिकों ने भी इस नए स्वरूप को लेकर चिंता जताई है। BA.2 वेरिएंट BA.1 को भी पछाड़ सकता है। वहीं दुनिया भर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटों में 22.27 लाख नए कोरोना संक्रमितों का पता चला है। दुनियाभर में करीब 13.34 लाख मरीज रिकवर हुए हैं। कोरोना से 4,829 मरीजों ने दम तोड़ा है। नए संक्रमितों के मामले में भारत शीर्ष पर है, भारत में 3.6 लाख नए मरीज मिले हैं। फ्रांस दूसरे स्थान पर है, वहां 3 लाख नए मरीज मिले हैं। तीसरे स्थान पर अमेरिका है यहां 1.97 लाख नए कोरोना मरीज मिले हैं। अमेरिका और फ्रांस में नए संक्रमितों की लगातार कम होती नजर आ रही है। दुनियाभर में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 6.66 करोड़ हैं।