कड़कनाथ आए बर्ड फ्लू की चपेट में, झाबुआ से धोनी के फ़ॉर्म में नहीं जा सके 2 हज़ार चूज़े

झाबुआ के रुंडीपाड़ा स्थित एक निजी केंद्र में 250 कड़कनाथ मुर्गियों में बर्ड फ्लू होने की हुई पुष्टि, इसी केंद्र से धोनी को दो हजार चूजे रांची भेजे जाने थे

Updated: Jan 13, 2021, 04:31 PM IST

कड़कनाथ आए बर्ड फ्लू की चपेट में, झाबुआ से धोनी के फ़ॉर्म में नहीं जा सके 2 हज़ार चूज़े
Photo Courtesy: News Nation

भोपाल। मध्य प्रदेश के झाबुआ में देश विदेश में मशहूर कड़कनाथ मुर्गियों के बर्ड फ्लू की चपेट में आने की पुष्टि हुई है। झाबुआ के रुंडीपाड़ा स्थित एक निजी केंद्र में 250 कड़कनाथ मुर्गियों में बर्ड फ्लू का इंफेक्शन मिला है। इसके चलते करीब 300 मुर्गियों को खत्म करके ज़मीन में गाड़ दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब प्रशासन एक किलोमीटर के दायरे के भीतर यह कवायद जारी रखेगा।

हिंदी के एक अख़बार के मुताबिक पिछले पांच दिनों में निजी केंद्र में करीब 2500 कड़कनाथ मुर्गे, मुर्गी और चूजों की मौत हुई है। इसी केंद्र से भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को 2 हज़ार चूजे रांची भेजे जाने थे। धोनी ने हाल ही में इन चूजों का ऑर्डर दिया था। लेकिन इनमें बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद धोनी को चूजों की सप्लाई नहीं की जाएगी। 

झाबुआ में कड़कनाथ मुर्गियों में पुष्टि होने के बाद पशुपालन विभाग अब अलर्ट मोड में आ गया है। पशुपालन विभाग ने प्रदेश के सभी पोल्ट्री फार्म के संचालकों को अलर्ट रहने के लिए कहा है। क्षेत्र के एक किलोमीटर के दायरे में पाले जा रहे मुर्गे और मुर्गियों को मार दिया गया है। उधर प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी एक उल्लू और एक कबूतर की मरने की सूचना है। इसके बाद इन्हें ज़मीन में दफना दिया गया है। 

अब तक 18 ज़िलों में हुई है बर्ड फ्लू की पुष्टि 

मध्य प्रदेश में अब तक 18 ज़िलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। जबकि पांच जिलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि होना अभी बाकी है। प्रदेश के 42 ज़िलों में लगभग 1500 कौवों की मृत्यु हुई है। इंदौर, मंदसौर, आगर, नीमच, देवास, उज्जैन, खंडवा, खरगोन, गुना, शिवपुरी, राजगढ़, शाजापुर, विदिशा, भोपाल, होशंगाबाद, अशोकनगर, दतिया और बड़वानी में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है।