प्यास लगने पर कुआं खोदती है सरकार, खाद संकट पर पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव ने बीजेपी सरकार को घेरा

सचिन यादव ने कहा कि प्रदेशभर में बड़े स्तर पर खाद की कालाबाजारी हो रही है, किसान लाइन में खड़े हैं, बावजूद उन्हें खाद नहीं मिल रहा है।

Updated: Nov 06, 2022, 06:27 PM IST

प्यास लगने पर कुआं खोदती है सरकार, खाद संकट पर पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव ने बीजेपी सरकार को घेरा

खंडवा। मध्य प्रदेश के किसान लगातार खाद की किल्लत से जूझ रहे हैं। इस बार भी रबी फसल के दौरान अधिकांश जिलों में खाद की भयंकर किल्लत है। पर्याप्त मात्रा में किसानों को खाद नहीं मिलने के कारण उन्हें महंगे दामों पर अपनी जरूरतें पूरी करना पड़ रही हैं। कांग्रेस ने सत्ताधारी दल बीजेपी पर खाद की कालाबाजारी का आरोप लगाया है।

भारत जोड़ो यात्रा के लिए व्यवस्थाओं और रूट का जायजा लेने खंडवा पहुंचे पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव ने कहा कि यह प्रदेश की सरकार निकम्मी और भ्रष्ट सरकार है। इसे किसानों की कोई चिंता नहीं है जब प्यास लगे तब यह कुआं खोदते हैं। आज पूरे प्रदेश का किसान खाद के लिए परेशान है। अन्नदाताओं को लाइन में लगने के बाद भी खाद नहीं मिल पा रही है। लाइन में लगे अन्नदाताओं के साथ कई बार हादसे भी हो चुके हैं, लेकिन यह सरकार जागने को तैयार नहीं है।

सचिन यादव ने आगे कहा कि प्रदेश में अति वर्षा के कारण किसानों की सारी फसलें खराब हुई, लेकिन मुआवजा तो छोड़िए आज तक उन किसानों की फसलों का सर्वे तक नहीं हुए। भाजपा के लोग बेवजह का ढिंढोरा पीटते हैं कि मध्य प्रदेश में खाद की कोई कमी नहीं है। लेकिन देख लीजिए पूरे प्रदेश में सोसायटी के बाहर किसान लाइन में लगा है, फिर भी उसे खाद नहीं मिल रही है। यह सरकार की प्राथमिकता में ना पहले किसान था, ना अब है और ना भविष्य में रहेगा।