MP: मंत्री के भाई पर बैंककर्मी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने का आरोप, पूछने पर तिलमिलाए मंत्री- बोले रखो फोन

बैंककर्मी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने का वीडियो वायरल, पुलिस ने उल्टा पीड़ित बैंककर्मी को भेजा जेल, पुलिस का दावा- बैंककर्मी ने ही की झूमाझटकी, बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे भी बंद मिले

Updated: Jul 18, 2021, 08:52 PM IST

MP: मंत्री के भाई पर बैंककर्मी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने का आरोप, पूछने पर तिलमिलाए मंत्री- बोले रखो फोन
Photo Courtesy : Bharat News

शाजापुर। मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के भाई और उनके साथियों पर बैंककर्मी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने का आरोप लगा है। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति भाग रहा है और लोग उसे डंडों से पीट रहे हैं। हैरानी की बात ये है कि पुलिस ने इस मामले पर उल्टे पीड़ित को ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। घटना को लेकर पूछे जाने पर तिलमिलाए मंत्री ने कहा कि चलो फोन रखो।

मामला शाजापुर जिले के अंवतीपुर बड़ाेदिया थाने की तिलावद चौकी अंतर्गत पंचानेर गांव का है। यह गांव मंत्री परमार का गृह गांव है। बताया जा रहा है कि मंत्रीजी के भाई हरिप्रसाद परमार की बैंककर्मी नरेश फुलवानी से किसी बात को लेकर बहस हो गई। इसके बाद उनके साथियों ने उस बैंककर्मी की बेरहमी से पिटाई कर दी। इसका वीडियो घटना के चार दिन बाद रविवार को सामने आया है जिसमें देखा जा सकता है कि भीड़ से कुछ लोग बैंककर्मी की पिटाई कर रहे हैं। 

हैरानी की बात ये है कि पुलिस ने इस मामले में उल्टा पीड़ित बैंककर्मी को ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इस बारे में हम समवेत ने जब मंत्री इंदर सिंह परमार से फोन पर बातचीत की तो वह तिलमिला गए। परमार ने कहा, 'हरिप्रसाद मेरे कौन इससे तुम्हें क्या मतलब? तुमलोग बैंक वालों की हरकतें नहीं देखते हो। हरिप्रसाद की उम्र 75 साल है। बुजुर्ग आदमी किसी की पिटाई करेगा? चलो अब फोन रखो।'

बैंककर्मी ने ही झूमाझटकी की- पुलिस

मामले में पुलिस का कहना है कि बैंककर्मी ने ही हरिप्रसाद के साथ झूमाझटकी की थी। पुलिस के मुताबिक वे जब पासबुक बनवाने गए तो बैंककर्मी डेढ़ सौ रुपए मांगने लगा। रुपए नहीं देने पर उसने हरिप्रसाद को धक्के मारकर बाहर निकाल दिया। पुलिस के अनुसार इस घटना का कोई वीडियो नहीं है क्योंकि बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे बंद पड़े थे। शाजापुर एसडीओपी शंकर द्विवेदी ने कहा कि हरिप्रसाद परमार की शिकायत पर आरोपी बैंककर्मी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।