गरीब चाय वाले की उधारी नहीं चुका रहे थे BJP विधायक, बीच सड़क पर घेरकर बोला- पैसे कब दोगे

सीएम शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर में भाजपा विधायक करण सिंह वर्मा को बीच सड़क पर चायवाले ने अपने 30 हजार बकाया लेने के लिए घेर लिया।

Updated: Nov 19, 2022, 06:49 PM IST

गरीब चाय वाले की उधारी नहीं चुका रहे थे BJP विधायक, बीच सड़क पर घेरकर बोला- पैसे कब दोगे

सीहोर। मध्य प्रदेश के पूर्व राजस्व मंत्री और वर्तमान में इछावर से भाजपा के विधायक करण सिंह वर्मा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें एक चायवाला उन्हें बीच में रोककर अपनी चाय के पैसे मांग रहा है। वहीं, विधायक उसे घर पर पैसे लेने के लिए बुलाने का बोल रहे हैं।

दरअसल, पिछले विधानसभा चुनाव में विधायक ने 30 हजार रूपये की उधारी चाय पी और और कार्यकर्ताओं को पिलवा दी। लेकिन चार साल उसके पैसे अब तक नहीं चुकाए हैं। गरीब चाय वाला पैसे के लिए कई बार विधायक के घर गया, लेकिन खाली हाथ वापस लौटना पड़ा। इतना ही नहीं चार साल तक विधायक जी भी क्षेत्र में नहीं गए।

चुनाव में अब जब सिर्फ 11 महीने बचे हैं तो विधायक ने एक बार फिर से अपने विधानसभा क्षेत्र इछावर में सक्रियता बढ़ा दी है। बीते दिनों वर्मा एक कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए ग्राम बरखेड़ी जा रहे थे। तभी बीच सड़क पर एक चायवाले ने कुछ लोगों के साथ विधायक के काफिले को रोक लिया तथा अपने चाय के 30 हजार रुपए मांगने लगा। 

वीडियो में एक आदमी कह रहा है कि ये विधायक साहब हैं, चार साल हो गए हैं, इस गरीब के चाय के पैसे नहीं दे रहे हैं। ये चुनाव के बाद आज आए हैं। विधायक करण सिंह वर्मा ने कहा कि कौन नहीं दे रहा पैसे। जिस पर युवक कहता है कि आपने पैसे नहीं दिए हैं। विधायक करण सिंह वर्मा ने कहा कि मैंने तो दे दिए थे पैसे, कितने पैसे है? इसपर युवक बोला साहब 30 हजार रुपए हैं। वीडियो में विधायक करण सिंह वर्मा कह रहे हैं कि घर आ जाना दे दूंगा। तभी चायवाला बोल उठता है, 'आपने कहा था कि बेटा, चाय बना...जो भी दिक्कत आएगी उसके लिए मैं हूं। मैं आपके पास कितनी बार आ चुका हूं। तभी विधायक ने कहा, आप परसों आ जाना। मैं बिल क्लियर कर दूंगा।'

वायरल वीडियो में विधायक करण सिंह वर्मा स्वीकार कर रहे हैं। वो कह रहे हैं कि सोमवार को आना हम तुम्हारा बिल दे देंगे। हालांकि, अब वे कह रहे हैं कि चाय वाला उन्हें ब्लैकमेल कर रहे है। उसे कार्यकर्ताओं ने दो बार 30 हजार रुपए दिए। कल भी उसे 30 हजार रुपए दे दिए गए हैं। चुनावी साल मुझे बदनाम करने के लिए इस तरह के वीडियो निकाले जा रहे हैं।