MP में पोचर्स बेखौफ, सिवनी में टाइगर हंट का मामला, करंट लगाकर किया शिकार

मध्य प्रदेश में सुरक्षित नहीं हैं टाइगर्स, एक और बाघ की हत्या, खुलेआम घूम रहे हैं शिकारी, अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रुपए में बेचा जाता है खाल।

Updated: Jan 12, 2023, 02:35 PM IST

MP में पोचर्स बेखौफ, सिवनी में टाइगर हंट का मामला, करंट लगाकर किया शिकार

सिवनी। मध्य प्रदेश को "टाइगर स्टेट" का दर्जा मिला हुआ है, इसके बावजूद यह राज्य बाघों के जीवन के लिए मुफीद साबित नहीं हो रहा है। आए दिन यहां बाघों की संदिग्ध अवस्था में मौत हो रही है। बुधवार के सिवनी में करंट लगाकर बाघ की हत्या का मामला सामने आया है।

बताया जा रहा है कि जंगल में 11 केवी बिजली लाइन से फैलाए गए करंट की चपेट में आने से एक वयस्क नर बाघ की मौत हो गई। वन अमले ने इस मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। मामला दक्षिण सामान्य वनमंडल के रूखड वन परिक्षेत्र की दरासी बीट के बरकमपाठ गांव का है। 

यह भी पढ़ें: बाघों के लिए काल साबित हो रहा MP, साल 2022 में 34 बाघों की मौत, छिन सकता है टाइगर स्टेट का दर्जा

वन अमला को गश्ती के दौरान चौपर नाला से लगे जंगल व खेत की सीमा पर बाघ का शव दिखाई दिया। इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। उसके बाद मौके पर पहुंचकर डॉक्टर अखिलेश मिश्रा ने बाघ के शव का पोस्टमार्टम किया। वन परिक्षेत्र रूखड़ के रेंजर दानिस उइके ने बताया कि घटनास्थल पर 11 केवी बिजली लाइन से करंट फैलाने के साक्ष्य मिले हैं। खेत से लगी जंगल की सीमा तक खूटी लगाकर वन्यप्राणी का शिकार करंट फैला किया गया। 

अधिकारियों की टीम ने मौके से खूटियां भी जब्त की हैं। डाग स्क्वायड टीम घटनास्थल के आसपास के दो किलोमीटर के दायरे में तलाशी अभियान चला रही है। बाघ के शव में सभी अंग पूरी तरह सुरक्षित मिले हैं। मृत बाघ करीब 8 साल का वयस्क नर है, जिसका क्षेत्र में मूवमेंट था। इस मामले में वन अमले ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। वन अमला पूछताछ कर मामले में छानबीन कर रहा है। वहीं पकड़े गए नागेश्वर कमरे ने बताया कि जंगली सुअर का शिकार करने के लिए करंट बिछाया था।