मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड, दतिया में 2 डिग्री तक लुढ़का पारा

मध्य प्रदेश के दतिया में सबसे ठंडी रात, ग्वालियर में 4.2 डिग्री तक गिरा पारा, प्रदेश के 6 शहरों का तापमान 5-6 डिग्री तक पहुंचा, 23 शहरों में 10 के नीचे टेंप्रेचर

Updated: Dec 20, 2020, 12:31 AM IST

मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड, दतिया में 2 डिग्री तक लुढ़का पारा
Photo Courtesy : ibc24

भोपाल। मध्य प्रदेश में पहाड़ों से आ रही बर्फीली हवाओं ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। राज्यभर में दिन के समय चटक धूप के बावजूद रात में हाड़ कपा देने वाली ठंड पड़ रही है। शुक्रवार की रात दतिया में दूसरे दिन भी सबसे ज्यादा ठंड रिकॉर्ड की गई। दतिया में बीती रात पारा गिरकर 2 डिग्री तक जा पहुंचा, वहीं सुबह ओस की बूंदे भी जमती दिखीं।

प्रदेश में दतिया, नौगांव, ग्वालियर, खजुराहो, गुना सहित 5 जिलों का रात का तापमान 5 डिग्री से नीचे आ गया है। ये सभी जिले शीतलहर की चपेट में हैं। इसके अलावा प्रदेश के 6 शहराें में पारा 5-6 डिग्री के आसपास और 23 शहराें में 10 डिग्री या उससे कम रहा। ग्वालियर का तापमान 4.2 डिग्री दर्ज किया गया।

प्रदेश में सबसे सर्द रात लगातार दूसरे दिन भी दतिया में दर्ज की गई। हालांकि, दतिया के तापमान को लेकर मृदा अनुसंधान केंद्र और मौसम विभाग के आंकड़े मेल नहीं खाते। मृदा अनुसंधान केंद्र के मुताबिक दतिया का न्यूनतम तापमान 2 डिग्री और मौसम विभाग के अनुसार 3.1 डिग्री रहा।

यह भी पढ़ें: बीते 10 सालों में सबसे ज्यादा ठंडा रहा नवंबर का महीना

मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि बर्फ से ढके पहाड़ों से उत्तरी हवाओं का सीधा मैदानी क्षेत्र में आना, कड़ाके की सर्दी पड़ने का मुख्य कारण है। राज्य मौसम विभाग ने आने वाले तीन दिनों तक शीतलहर के साथ कोल्ड-डे रहने की चेतावनी जारी की है।

कड़ाके की ठंड का मार खेतों में लगी फसलों पर भी पड़ी है। प्रदेश के कई जिलों में अरहर, चना, मूंग, और मसूर जैसी फसलों में पाला पड़ने की भी खबर है। इसके मद्देनजर कृषि वैज्ञानिकों ने कहा है कि किसान भाई रात में सिंचाई से बचें और सुबह ही फसलों में सिंचाई करें। साथ ही मेड़ पर धुंआ करने से भी फसलों को बचाया जा सकता है।