दिल न लगे दिलदार की तर्ज पर गुरुजी ने बताया गर्मी से बचने का तरीका, बिहार के टीचर का वीडियो वायरल

समस्तीपुर के एक अनोखे शिक्षक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह बच्चों को गाने के जरिए यह पढ़ा रहे हैं कि लू से कैसे बचना है, यह गाना बॉलीवुड के गाने 'जब दिल न लगे दिलदार' पर आधारित है

Updated: May 01, 2022, 06:48 PM IST

दिल न लगे दिलदार की तर्ज पर गुरुजी ने बताया गर्मी से बचने का तरीका, बिहार के टीचर का वीडियो वायरल

समस्तीपुर। बिहार के अधिकांश हिस्सों में लू के थपेड़ों और तेज गर्मी ने आम लोगों को बेहाल कर दिया है। चिलचिलाती धूप व तपिश वाली गर्मी के बीच लू से बचाव बेहद जरूरी है। बिहार के एक शिक्षक ने अपने छात्रों को गाना गाकर लू और गर्मी से बचाव के तरीके बताए, जिसका सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

शिक्षक ने लू से बचाव वाला गाना गोविंदा की सुपरहिट फिल्म कुली नंबर 1 का मशहूर गाना "आ जाना, आ जाना... जब दिल न लगे दिलदार" के तर्ज पर बनाया है। इसके बोल हैं, "ना जाना ना जाना, जब धूप रहे खूब तेज, तो बाहर ना जाना, खुद को रखना घर में सहेज कि बाहर मत जाना।"

इसके साथ ही उन्होंने बच्चों को समझाने के लिए क्लास में छाता एवं गले में पानी का बोतल लटका रखा है। इसके जरिए वे बच्चों को समझा रहे हैं कि धूप में छाता लेकर चलना है और खूब पानी भी पीना है। नॉनवेज खाने से परहेज करने की भी सलाह भी दे रहे हैं। साथ ही बच्चों को भूखे पेट स्कूल न आने से लेकर चेहरा ढंकने और नींबू–पानी पीने की बात भी गाने के जरिए समझाई गई है। क्लास में पढ़ रहे बच्चे भी उनके गाने पर खूब तालियां बजाते हैं।

इस अनोखे टीचर का नाम वैद्यनाथ रजक बताया जा रहा है। वह समस्तीपुर के हसनपुर स्थित प्राथमिक कन्या विद्यालय मालदह में पढ़ाते हैं। क्योंकि उन्होंने बच्चों को लू से बचाव के बारे में बताने के लिए जिस तरीके को अपनाया है वो अनोखा है। यही वजह है कि शिक्षक वैद्यनाथ रजक अपने पढ़ाने के तरीकों को लेकर इन दिनों हर तरफ काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं।