महाराष्ट्र के बीड में एक चिता पर 8 शवों का अंतिम संस्कार, कोरोना मरीजों के दाह संस्कार के लिए जगह की कमी

महाराष्ट्र में भयावह हो रहे हालात, कोरोना से मरने वालों के लिए श्मशान घाट में जगह की कमी, बीड जिले में एक ही चिता पर 8 लोगों का अंतिम संस्कार, कई जगह नहीं मिल रही लकड़ी

Updated: Apr 07, 2021, 05:35 PM IST

महाराष्ट्र के बीड में एक चिता पर 8 शवों का अंतिम संस्कार, कोरोना मरीजों के दाह संस्कार के लिए जगह की कमी
Photo Courtesy: twitter

मुंबई। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 55,469 नए कोरोना मरीज मिले हैं। एक दिन में 297 की मौत हुई है। वहीं 34,256 मरीज ठीक भी हुए हैं। कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या में महाराष्ट्र दुनिया में दसवें नंबर पर पहुंच गया है। यहां 4 लाख 72 हजार 283 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इस बीच महाराष्ट्र से एक दिल दहला देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां के बीड जिले में कोरोना मरीजों का अंतिम संस्कार एक ही चिता में किया गया।

बीड जिले के अंबाजोगाई स्थित श्मशान घाट में कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार के लिए एक जगह निश्चित की गई है। यहां एक ही दिन में कई लोगों की मौत कोरोना से होने की वजह से जगह की कमी हो गई। ऐसी स्थिति में एक ही चिता पर 8 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया।

बीड के अंबाजोगाई नगरपालिका के पठाण मांडवा के नजदीक स्थित श्मशान घाट में कोरोना से मरने वालों के फ्यूनरल के लिए स्थान निश्चित किया गया है। यहां पर एक साथ 8 लोगों को मुखाग्नि दी गई। मृतकों में एक महिला और सात पुरुष थे, महिला कम उम्र की थी जबकि पुरुषों की उम्र 60 साल से ज्यादा थी। जिनका अंतिम संस्कार पीपीई किट पहने निगम कर्मियों ने किया। 

यहां के अंबाजोगाई ब्लाक में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ी है। बीते चार दिनों में लगभग 500 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। यहां प्रशासन ने लाकडाउन लगाया था। बीड जिले में कोरोना से 672 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 28491 है। जबकि 25436 मरीज कोरोना से ठीक हुए हैं।

बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र के ही औरंगाबाद में यही स्थिति देखने को मिली है। यहां भी श्मशान घाट में भी जगह की कमी देखने को मिली। हालात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक चिता बुझने से पहले ही दूसरी चिताओं को जलाना पड़ रहा है। वहीं भुसावल में लोगों के अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियों की कमी हो गई है। घाटों पर ज्यादा भीड़ होने से अंतिम संस्कार के लिए वेटिंग हो रही है।

वहीं कोरोना के नए मामलों में महाराष्ट्र दुनिया का तीसरे नंबर पर है। प्रदेश में फिलहाल 31.13 लाख लोग कोरोना की जद में आ चुके हैं। वहीं राहत की बात है कि अब तक कोरोना से 25.83 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं। महामारी से मरने वालों की संख्या 56,330 है। एक्टिव मरीज 4 लाख 72 हजार 283 हैं। मीडिया रिपोर्टस की मानें तो कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या के हिसाब से मामले में महाराष्ट्र दुनिया में 10वें नंबर पर है। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या की वजह से पुणे में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद किया गया है। वहीं सरकारी दफ्तरों जैसे BMC में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।