Parliament Monsoon Session 2020: संसद का मानसून सत्र शुरू, जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं

PM Modi: पीएम मोदी ने कहा कि संसद एक सुर में सैनिकों का दे साथ, पहले दिन राज्यसभा में उपसभापति पद के लिए चुनाव

Updated: Sep 14, 2020 03:00 PM IST

Parliament Monsoon Session 2020: संसद का मानसून सत्र शुरू, जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हुआ। सत्र शुरू होने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा किजब तक कोरोना की दवाई नहीं बन जाती, तब तक कोई ढिलाई न बरतें। हमारे सैनिक सीमा पर मुस्तैद हैं। संसद से एक भाव, एक सुर से ये आवाज उठनी चाहिए कि देश और पूरा सदन उनके साथ है।

सदन की कार्यवाही आरंभ होने के पहले पीएम मोदी ने कहा कि संसद सत्र एक अलग समय में शुरू हो रहा है। यहां कोरोना और कर्तव्य दोनों है। सांसदों ने कर्तव्य के लिए रास्ता चुना। मैं उनका अभिनंदन और आभार व्यक्त करता हूं। इस बार राजयसभा और लोकसभा एक दिन में अलग-अलग समय पर आयोजित किया जाएगा। यह शनिवार-रविवार को भी आयोजित किया जाएगा। सभी सांसदों ने इसे स्वीकार किया। इस सत्र में कई महत्वपूर्ण निर्णय होंगे, अनेक विषयों पर चर्चा होगी और हम सबका अनुभव है कि लोकसभा में जितनी ज़्यादा चर्चा होती है उतना सदन को, विषय वस्तु को और देश को भी लाभ होता है। इस बार भी उस महान परम्परा में हम सब सांसद भी वैल्यू एडिशन करेंगे ये हम सबका विश्वास है।

चीन हमले पर कांग्रेस का स्थगन प्रस्ताव 

संसद के मानसून सत्र के पहले दिन लोक सभा में कांग्रेस ने पूर्वी लद्दाख में चीनी हमले पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव दिया है। यह प्रस्ताव कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी और के सुरेश ने दिया है। डीएमके और सीपीआई (एम) ने लोकसभा में NEET परीक्षा के लेकर छात्रों की आत्महत्या को  लेकर कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया है।

मानसून सत्र में पेश किए जाएंगे महत्वपूर्ण विधेयक

मानसून सत्र में तीन दर्जन से अधिक विधेयक पेश किए जाएंगे। इनमें 11 विधेयक ऐसे होंगे जो अध्यादेश की जगह लेंगे इनमें से चार विधेयकों का विपक्षी दल विरोध कर सकते हैं। ये चारों विधेयक कृषि क्षेत्र और बैंकिंग नियमन से जुड़े अध्यादेश का स्थान लेंगे। विपक्षी दलों ने महामारी से निपटने, अर्थव्यवस्था की स्थिति और लद्दाख में सीमा पर चीनी आक्रामकता जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर सरकार को घेरने का फैसला किया है।

राज्यसभा में उपसभापति पद का चुनाव
सत्र के पहले दिन राज्यसभा में उपसभापति पद के लिए चुनाव होगा। विपक्ष की ओर से राजद नेता मनोज झा और एनडीए से जदयू नेता हरिवंश के बीच कांटे की टक्कर है।