Rahul Gandhi: सरकार की क्रूरता के दृश्यों में कुछ और देखना शेष नहीं, किसान नहीं तो देश नहीं

कांग्रेस नेता राहुल गांधी का हैशटैग, किसान नहीं तो देश नहीं ट्विटर पर हुआ टॉप ट्रेंड, देखते ही देखते 85 हजार से ज्यादा लोगों ने किया ट्वीट

Updated: Jan 05, 2021, 12:14 AM IST

Rahul Gandhi: सरकार की क्रूरता के दृश्यों में कुछ और देखना शेष नहीं, किसान नहीं तो देश नहीं

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली कूच कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों पर हरियाणा पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्ण रुख अख्तियार करने को लेकर कांग्रेस ने देशभर में अभियान छेड़ दिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों के समर्थन में भावुक पंक्तियां साझा की हैं। राहुल के इस ट्वीट की आखिरी लाइन 'किसान नहीं तो देश नहीं', ट्विटर पर टॉप ट्रेंड बन गई है। देखते ही देखते इस हैशटैग को लाखों लोगों ने इस्तेमाल करने हुए किसानों का समर्थन किया।

राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा,
'सर्दी की भीषण बारिश में
टेंट की टपकती छत के नीचे
जो बैठे हैं सिकुड़-ठिठुर कर
वो निडर किसान अपने ही हैं, ग़ैर नहीं
सरकार की क्रूरता के दृश्यों में
अब कुछ और देखने को शेष नहीं 
किसान नहीं तो देश नहीं'

 

इस ट्वीट के साथ कांग्रेस नेता ने किसानों के संघर्ष की बेहद मार्मिक तस्वीरें पोस्ट की है, जिसे देखकर आंदोलनरत किसानों की पीड़ा को समझा जा सकता है।

ट्विटर पर नंबर वन बन चुकी आखिरी लाइन को हैशटैग करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी किसानों के साथ अत्याचार पर चोट की है। प्रियंका ने लिखा, 'सरकार एक तरफ तो किसानों को बातचीत के लिए बुलाती है दूसरी तरफ इस कड़कड़ाती ठंड में उन पर आंसू गैस के गोले बरसा रही है। इसी अड़ियल और क्रूर व्यवहार की वजह से अब तक लगभग 60 किसानों की जान जा चुकी है। किसान कैसे विश्वास करे इस क्रूर सरकार पर?'

प्रियंका ने इसके साथ कल रात का वह वीडियो भी साझा किया है जब किसानों पर अंधेरे में जुल्म ढाया जा रहा था। वीडियो में देखा जा सकता है कि चारों तरफ चीख-पुकार मची हुई है और अंधेरे में आंसू गैस के गोले किसानों पर बरसाए जा रहे हैं।

जंग है फरमानों से खत्म किए जा रहे इंसानों की

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों के इस आंदोलन को जंग बताते हुए कहा है कि यह जंग लड़ी जाएगी। उन्होंने कुछ पंक्तियां ट्वीट की हैं जो इस प्रकार है,
'यह आंदोलन नहीं, जंग है

जंग है हल चलाते किसानों की
जंग है बारिश में टपकते मकानों की
जंग है मेहनत से उगे फसल के दानों की
जंग है फ़रमानों से खत्म किए जा रहे इंसानों की

और यह जंग लड़ी जाएगी.

हुक्मरानों कि ख़िलाफ़ भी
पूँजीपति घरानों के ख़िलाफ़ भी'

 

 

मोदी जी, आपकी क्रूरता को इतिहास माफ नहीं करेगा

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी किसानों के साथ बर्बर व्यवहार को लेकर गुस्सा जाहिर किया है। सुरजेवाला ने कहा, 'किसान संघर्ष की उपेक्षा के मामले में मोदी सरकार का अहंकार, अंग्रेज़ी हुकूमत की ज़्यादतियों को भी पीछे छोड़ चुका है। ऐसी अलोकतांत्रिक व ग़ैर-ज़िम्मेदार सरकार भी देश में पहली बार सत्तारूढ़ हुई। मोदी जी, याद रखिएगा, आपकी क्रूर, निरंकुश व तानाशाह सरकार को इतिहास कभी माफ नहीं करेगा।'

 

 

गौरतलब है कि दिल्ली की कड़कड़ाती ठंड और बारिश में देशभर के किसान पिछले 40 दिनों से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान ठंड की वजह से 50 से ज्यादा किसानों की जानें चली गई हैं। लेकिन सरकार किसानों की मांगों को स्वीकार करने की जगह दिल्ली जाने की कोशिश करने वाले किसानों पर रात के अंधेरे में आंसू गैस के गोले बरसाती है। सरकार के इन कदमों से देश के लोगों में कितना गुस्सा है, इसका संकेत राहुल गांधी की लाइनों के ट्विटर पर ट्रेंड करने से भी मिलता है।