JNU के बाद जामिया में BBC की डॉक्यूमेंट्री को लेकर हंगामा, स्क्रीनिंग के ऐलान के बाद 10 छात्र गिरफ्तार

हंगामे के बीच जामिया यूनिवर्सिटी के सभी गेट बंद कर दिए गए हैं। छात्रों को उसके अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। परिसर के बाहर भारी मात्रा में पुलिसबल की तैनाती की गई है।

Updated: Jan 26, 2023, 09:00 AM IST

JNU के बाद जामिया में BBC की डॉक्यूमेंट्री को लेकर हंगामा, स्क्रीनिंग के ऐलान के बाद 10 छात्र गिरफ्तार

नई दिल्ली। गुजरात दंगों को लेकर निर्मित बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री को लेकर विवाद थमता नहीं दिख रहा है। जेएनयू के बाद अब जामिया परिसर में डॉक्यूमेंट्री को लेकर भारी बवाल देखने को मिला है। यहां डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के ऐलान के बाद पुलिस ने 10 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है। छात्रों की गिरफ्तारी के बाद यूनिवर्सिटी के सभी गेट बंद कर दिए गए हैं। छात्रों को उसके अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। परिसर के बाहर भारी मात्रा में पुलिसबल की तैनाती की गई है।

जामिया के छात्रों ने कहा था कि वो बीबीसी की 'इंडिया: द मोदी क्वेश्चन' डाक्यूमेंट्री दिखाएंगे। लेकिन जामिया विश्वविद्यालय ने उन्हें अनुमति देने से इनकार कर दिया। हालांकि छात्र आज शाम 6 बजे गेट नंबर-8 पर डॉक्यूमेंट्री दिखाने पर अड़े रहे। बुधवार शाम 6 बजे गेट नंबर-8 पर MCRC लॉन में बीबीसी की प्रतिबंधित और विवादित डॉक्यूमेंट्री का आयोजन किया जा रहा था। चीफ प्रॉक्टर की शिकायत पर पुलिस ने कैंपस से 10 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। प्रॉक्टर ने आयोजक छात्रों के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की बात कही है। 

स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने दावा किया कि दिल्ली पुलिस ने 70 से अधिक छात्रों को हिरासत में लिया है। जामिया की कुलपति नजमा अख्तर ने कहा कि एसएफआई से जुड़े छात्र बीबीसी डॉक्यूमेंट्री प्रदर्शित कर परिसर में शांति भंग करना चाहते हैं।
यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग पर प्रतिबंध लगाने के बाद छात्र व‍िरोध कर रहे हैं। जामिया में फिलहाल डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग टल गई है। SFI का कहना है कि जबतक हिरासत में लिए गए छात्र रिहा नहीं किए जाते, त‍ब तक डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग नहीं की जाएगी।

डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग का मामला अब दिल्‍ली से आगे बढ़कर पंजाब तक पहुंच गया है। पंजाब यूनिवर्सिटी में NSUI ने डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग शुरू कर दी। हालांकि, हाफ टाइम के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इसे जबरन रोक दिया। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन ने डॉक्यूमेंट्री स्क्रीनिंग संबंधी तस्वीरें जारी की है। इससे पहले हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र भी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग कर चुके हैं।

इससे पहले बीबीसी की विवादित डॉक्यूमेंट्री ‘India: The Modi Question’ की स्‍क्रीनिंग को लेकर हंगामा हो चुका है। जेएनयू स्‍टूडेंट्स यूनियन ने डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग को लेकर कैंपस में पर्चे लगा दिए थे। इसके बाद विश्‍वविद्यालय प्रशासन ने नोटिस जारी कर डॉक्‍यूमेंट्री स्‍क्रीनिंग पर रोक लगा दी थी। साथ ही बिजली और इंटरनेट कनेक्शन भी बंद कर दिया था। लेकिन इसके बाद भी छात्रों ने डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की। इस दौरान एबीवीपी के छात्रों ने डॉक्यूमेंट्री देख रहे स्टूडेंट्स पर पत्थरबाजी की, जिसके बाद परिसर में बवाल बढ़ गया।