भूकंप के तेज झटकों से थर्राया उत्तराखंड का जोशीमठ, रिक्टर स्केल पर 4.6 रही तीव्रता

जोशीमठ से 31 किलोमीटर दूर पश्चिम दक्षिण-पश्चिम (WSG) रहा भूकंप का केंद्र, शनिवार सुबह 5:58 में महसूस किए गए झटके, अभी तक किसी जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं

Updated: Sep 11, 2021, 08:42 AM IST

भूकंप के तेज झटकों से थर्राया उत्तराखंड का जोशीमठ, रिक्टर स्केल पर 4.6 रही तीव्रता
Photo Courtesy: NDTV

जोशीमठ। उत्तराखंड में एक बार फिर भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। उत्तराखंड का जोशीमठ आज सुबह भूकंप के तेज झटकों से थर्राया। भूकंप आने के बाद दहशतजदा लोग घरों से बाहर भाग गए। नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलाजी के मुताबिक भूकंप का केंद्र जोशीमठ से 31 किलोमीटर दूर पश्चिम दक्षिण-पश्चिम (WSG) में 5 किलोमीटर की गहराई में था।

बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह करीब 5 बजकर 58 मिनट पर जोशीमठ में लोगों ने भूकंप के तेज झटके महसूस किए। इस दौरान जो लोग जगे हुए थे वे घरों से बाहर निकल गए। जोशीमठ में कुछ देर के लिए भागदौड़ मची रही। नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलाजी के मुताबिक रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.6 रही। 

यह भी पढ़ें: 12 हज़ार किलोमीटर की प्रतिज्ञा यात्रा करेंगी प्रियंका गांधी, मिशन यूपी पर है कांग्रेस की नज़र

जोशीमठ के अलावे चमोली, पौड़ी, अल्‍मोड़ा आदि जिलों के लोगों ने भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए। राहत की बात ये है कि अभी तक भूकंप की वजह से किसी जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। भूकंप के लिहाज से उत्तराखंड बेहद संवेदनशील राज्य माना जाता है। भूकंप जोन 5 में होने के कारण यहां अक्सर भूकंप आते रहते हैं। पिछले महीने भी राजधानी देहरादून में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे।

उधर लगातार भूस्खलन और बादल फटने की घटनाओं ने भी उत्तराखंड में कोहराम मचा रखा है। ऋषिकेश से बद्रीनाथ जाने वाले मार्ग पर बारिश की वजह से भूस्खलन तेज हो गया है। राष्ट्रीय हाइवे पर कई जगह बड़े-बड़े पत्थर गिरे हुए हैं। फिलहाल रास्ता अवरुद्ध हो गया है। कई वाहनों पर भी बड़े पत्थर गिरने की भी बातें सामने आई है।