12 हज़ार किलोमीटर की प्रतिज्ञा यात्रा करेंगी प्रियंका गांधी, मिशन यूपी पर है कांग्रेस की नज़र

12 हज़ार किलोमीटर की इस यात्रा को प्रतिज्ञा यात्रा नाम दिया गया, इस दौरान प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के लगभग हर शहर और हर बड़े गांवों में जाएंगी, इसे कांग्रेस के मिशन यूपी का आगाज़ माना जा रहा है

Updated: Sep 10, 2021, 07:44 PM IST

12 हज़ार किलोमीटर की प्रतिज्ञा यात्रा करेंगी प्रियंका गांधी, मिशन यूपी पर है कांग्रेस की नज़र

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस ने अपनी कमर कस ली है। कांग्रेस धमाकेदार अंदाज़ में मिशन यूपी का आगाज़ करने जा रही है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जल्द ही उत्तर प्रदेश में प्रतिज्ञा यात्रा निकालने जा रही हैं।  

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में निकलने वाली इस यात्रा में करीब 12 हज़ार से ज़्यादा किलोमीटर का सफ़र तय किया जाएगा। इस दौरान प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के लगभग हर बड़े शहर और गांव का रुख करेंगी और लोगों से मुलाकात करेंगी। प्रतिज्ञा यात्रा को कांग्रेस का बहुत बड़ा मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है। क्योंकि इस यात्रा के ज़रिए कांग्रेस ज़्यादा से ज़्यादा जनता तक पहुंचने की कवायद में जुट गई है।  

यह भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश को साधने में जुटी कांग्रेस, प्रियंका गांधी ने 50 नेताओं को फोन कर कहा, आपका टिकट कन्फर्म है

शुक्रवार को राजधानी लखनऊ में प्रियंका गांधी ने पार्टी नेताओं के साथ एक बैठक की। इसी बैठक में प्रतिज्ञा यात्रा पर सहमति बनी। इस बैठक में आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र पार्टी की रणनीति और कार्यक्रमों को लेकर चर्चा हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस उत्तर प्रदेश में ज़ोन के हिसाब से अपनी रणनीति तैयार कर रही है।  

ABCD फॉर्मूले के आधार पर कांग्रेस दे सकती है टिकट

 विधानसभा चुनावों से पहले हर बड़े राजनीतिक दल में टिकट को लेकर खींचतान शुरू हो गई है। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस ने चुनाव से काफी पहले ही टिकट बंटवारे का अपना फॉर्मूला तैयार कर लिया है। कांग्रोस एबीसीडी की कैटेगरी के आधार पर टिकट बंटवारा करेगी। 

ए कैटेगरी में उन लोगों को टिकट दिया जाएगा जिनकी जीत को लेकर कांग्रेस पूरी तरह से आश्वस्त है। बी कैटेगरी में कांग्रेस उन नेताओं को अपना उम्मीदवार बनाएगी जिनकी ज़मीन पर पकड़ काफी मज़बूत है। सी श्रेणी उन उम्मीदवारों के लिए होगी जो काफी अरसे से कांग्रेस के लिए काम करते आ रहे हैं। वहीं डी श्रेणी में ऐसे नेताओं को टिकट दिया जाएगा, जिन्हें ज़मीन पर उतर कर काम करना होगा।