Whatsapp ने अखबारों में दिया फुल पेज का विज्ञापन, प्राइवेसी के सम्मान को बताया अपना DNA

यूज़र्स का भरोसा जीतने के लिए वॉट्सऐप की ओर से बार-बार दी जा रही सफाई, प्राइवेसी को लेकर उपजे विवाद के बीच सिग्नल और टेलिग्राम के यूजर्स की संख्या बेतहाशा बढ़ी

Updated: Jan 13, 2021, 03:23 PM IST

Whatsapp ने अखबारों में दिया फुल पेज का विज्ञापन, प्राइवेसी के सम्मान को बताया अपना DNA
Photo Courtesy : Twitter

नई दिल्ली। इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप (Whatsapp) को अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी पर छिड़े विवाद पर सफाई देने के लिए अब अखबारों के फ्रंट पेज पर पूरे एक पन्ने का विज्ञापन (full page advertisement) देना पड़ा है। इससे पहले भी कंपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी (Privacy Policy) पर बार-बार सफाई दे चुकी है। लेकिन अखबारों में इतने बड़े पैमाने पर छपे विज्ञापन इस बात का संकेत हैं कि उसे यूज़र्स का भरोसा फिर से हासिल करने के लिए कितने पापड़ बेलने पड़ रहे हैं।

वॉट्सऐप के विवादों में घिरने का फायदा उसके टेलिग्राम (Telegram) और सिग्नल (Signal) जैसे प्रतिद्वंद्वियों को हो रहा है, जिनके कारोबार में पिछले कुछ दिनों के दौरान बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। इसी का नतीजा है कि ऑनलाइन माध्यमों से सफाई दे देकर थक चुके वॉट्सऐप को अब अखबारों में बड़े-बड़े इश्तेहार छपवाने पड़ रहे हैं।

दरअसल, आज देशभर के कई बड़े अखबारों के पहले पृष्ठ पर वॉट्सऐप का फुल पेज ऐड आया है। वॉट्सऐप के इस इश्तेहार का शीर्षक है, 'वॉट्सऐप आपकी निजता का सम्मान और सुरक्षा करता है।'  इस विज्ञापन में कंपनी ने लिखा है कि एंड-टू-एंड इन्क्रिप्शन के जरिए व्हाट्सऐप ने लोगों को निजी कम्युनिकेशन में मदद की है। ऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी में भी इसका ध्यान रखा गया है। कंपनी ने ये वादा भी किया है कि उसकी नई पॉलिसी का यूज़र्स के फ्रैंड्स और फैमिली से जुड़े मैसेज पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

DNA में है प्राइवेसी के सम्मान का दावा

वॉट्सऐप ने इस ऐड के माध्यम से यूजर्स को भरोसा दिलाया है कि उनका निजी डेटा विज्ञापन के उद्देश्य से सहयोगी कंपनी फेसबुक के साथ भी साझा नहीं किया जाएगा। कंपनी ने कहा है कि आपकी प्राइवेसी का सम्मान करना हमारे डीएनए में कोडेड है। कंपनी ने कहा, 'हम यूजर्स के कॉन्टैक्ट भी फेसबुक या अन्य किसी के साथ शेयर नहीं करते। आपके वॉट्सऐप ग्रुप्स भी प्राइवेट बने रहेंगे और चैट भी एंड-टू-एंड इनक्रिप्टेड रहेगा।' बड़ी संख्या में यूजर्स द्वारा छोड़े जाने के बाद वॉट्सऐप ने सफाई दी है कि प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव केवल बिजनेस अकाउंट के लिए है और वह भी पूरी तरह से वैकल्पिक।

यह भी पढ़ें: 50 करोड़ से ज़्यादा हुई टेलिग्राम यूज़र्स की संख्या, 72 घंटे में 2.5 करोड़ नए यूज़र जुड़े

ट्विटर पर ट्रॉल हो रहा है वॉट्सऐप

प्रमुख अखबारों में ऐड आने के बाद से वॉट्सऐप उसकी पैरेंट कंपनी फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को लोग लगातार ट्रॉल कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर वॉट्सऐप को लेकर कई तरह के मीम्स भी साझा कर रहे हैं। इसका कारण यह है कि शुरुआत में अपनी पॉलिसी को लेकर दादागिरी कर रहे वॉट्सऐप को जब यूजर्स की बेरुखी का सामना करना पड़ रहा है तब कंपनी के होश ठिकाने आए हैं। इसी का नतीजा है कि ऐड को लेकर डिजिटल प्लेटफॉर्म के बादशाह रहे फेसबुक को अब प्रिंट माध्यमों से अपने ऐड देने पड़ रहे हैं।

50 करोड़ से ज़्यादा हुई टेलिग्राम यूज़र्स की संख्या

वॉट्सऐप के बहिष्कार के बीच इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप टेलिग्राम (Telegram)  के यूजर्स की संख्या अब 500 मिलियन यानी 50 करोड़ से ज़्यादा हो गई है। इतना ही ही नहीं सिर्फ पिछले 72 घंटों में 25 मिलियन यानी ढाई करोड़ से ज़्यादा यूजर्स ने टेलिग्राम (Telegram) डाउनलोड किया है। यह जानकारी खुद टेलिग्राम ने अपने यूज़र्स को भेजी है। टेलिग्राम ने इसके लिए अपने यूज़र्स को मैसेज भेजकर धन्यवाद भी दिया है।