30 साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची थोक महंगाई, कांग्रेस बोली- इतना काफी है या और अच्छे दिन चाहिए

साल 1991 के बाद सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गई है थोक महंगाई, खुदरा महंगाई पर पड़ रहा है दोहरा असर, राहुल गांधी ने महंगाई का नया नाम दिया टैक्स वसूली

Updated: Dec 15, 2021, 12:49 PM IST

30 साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची थोक महंगाई, कांग्रेस बोली- इतना काफी है या और अच्छे दिन चाहिए
Photo Courtesy: India Today

नई दिल्ली। महंगाई के मोर्चे पर आमलोगों को लगातार झटके मिल रहे हैं। देश में थोक महंगाई दर 30 साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। मंगलवार को थोक महंगाई के जो आंकड़े सामने आए हैं उसके मुताबिक साल 1991 के बाद थोक महंगाई दर अभी सर्वाधिक है। 

थोक महंगाई दर में इस रिकॉर्ड वृद्धि को लेकर कांग्रेस नेताओं ने केंद्र सरकार की जमकर आलोचना की है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि नए भारत में महंगाई का नया नाम टैक्स वसूली हो गया है। 

यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने ट्वीट किया है कि इतने काफी हैं या और अच्छे दिन चाहिए।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, 'जो तीस साल में नहीं हुआ वह केंद्र की भाजपा सरकार ने करके दिखा दिया। जनता सब देख समझ रही है।  मोदी है तो मुमकिन है।

बता दें कि खुद वाणिज्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों में बताया गया कि नवंबर में थोक कीमतों में 14.2 फीसदी की वृद्धि हुई। इतनी महंगाई दर भारत में 30 साल पहले दिसंबर 1991 में दर्ज की गई थी। उस दौरान थोक महंगाई दर 14.3 फीसदी यानी वर्तमान से महज 0.1 फीसदी ही अधिक था। साल 1991 में देश जब भयंकर मंदी के दौर से गुजर रहा था, आज भी भारत आर्थिक मोर्चे पर उस ऐतिहासिक गिरावट को छू रहा है।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार के तोहफों के साथ लें नए साल का आनंद, बढ़ती महंगाई और बेरोज़गारी पर पी चिदंबरम का तंज

भारत में महंगाई को लेकर बार्कलेज का कहना है कि यह रिकॉर्ड वृद्धि पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स की कीमतों में तेजी के कारण हुई है। चूंकि फ्यूल और पॉवर में महंगाई साल दर साल के आधार पर 39.8 फीसदी पर है। मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस की चीफ इकोनॉमिस्ट अदिति नायर ने कहा य‍ह तेजी एक झटके के रूप में आई है।

सोमवार को ही खुदरा महंगाई के भी आंकड़े जारी किए गए थे। इसमें बताया गया कि खुदरा महंगाई दर 5 फीसदी के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गई है। चिंता की बात ये है कि यदि ऐसा ही चलता रहा तो महंगाई घटने के बजाए और बढ़ने की संभावना है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने अपने हालिया बयान में कहा है कि महंगाई दर में तेजी बनी रह सकती है।