हार्दिक पंडया ने दुबई से खरीदी 5 करोड़ की घड़ी, एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने किया जब्त

क्रिकेटर हार्दिक पंडया ने सोशल मीडिया पर दी सफाई, 5 करोड़ नहीं केवल 1.8 करोड़ की थीं उनकी दोनों घड़ियां, दावा किया है कि दुबई से खरीदी घड़ी के पेपर्स दिखाकर खुद जमा की कस्टम ड्यूटी

Updated: Nov 16, 2021, 12:15 PM IST

हार्दिक पंडया ने दुबई से खरीदी 5 करोड़ की घड़ी, एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने किया जब्त
Photo courtesy: twitter

ऑलराउंडर क्रिकेटर हार्दिक पंड्या की घड़ियों की चर्चा सोशल मीडिया पर जमकर हो रही है। हाल ही में मुंबई एयरपोर्ट पर उनके पास से 5 करोड़ की 2 घड़ियों को कस्टम विभाग ने जब्त करने की कार्रवाई की। बताया जा रहा है कि हार्दिक पांड्या के पास इस घड़ी के बिल नहीं थे। क्रिकेटर पर आरोप है कि उन्होंने घड़ियों के बारे में जानकारी छिपाई थी, उन्होंने इसके बारे में डिक्लेयर नहीं किया था।

हार्दिक पंडया की जिन घड़ियों को 5 करोड़ का बताया जा रहा है उसकी असली कीमत 1.8 करोड़ है। एक एक घड़ी 1.40 लाख की है जबकि दूसरी घड़ी की कीमत 40 लाख है।

सोशल मीडिया पर हार्दिक की किरकिरी होने पर क्रिकेटर ने सफाई दी है। अपनी सोशल मीडिया पोस्ट में हार्दिक ने लिखा है कि, वे देश के कानून का सम्मान करते हैं। सोशल मीडिया पर दुबई में खरीदी गई घड़ियों की कीमत को गलत बताते हुए उन्होंने घड़ियों की सही कीमत बताई है। वे लिखते हैं कि उनकी घड़ियों की कीमत 5 करोड़ नहीं है, बल्कि दोनों घड़ियों की कीमत लगभग 1.80 करोड़ है। उनका कहना है कि उन्होंने नियमों के अनुसार ही घड़ियां खरीदी हैं। उनके सारे डॉक्यूमेंट्स उनके पास हैं। साथ ही उन्होंने यह कहा कि वे नियमानुसार टैक्स दे चुके हैं। मुंबई एयरपोर्ट पर कस्टम डिपार्टमेंट को उन्होंने घड़ी से जुड़े सारे बिल और डॉक्यूमेंट्स भी दे दिए हैं।

अपने ट्वीट में हार्दिक ने बताया है कि वे दुबई से लौटते वक्त वे ही अपना बैग लेने के बाद खुद ही मुंबई एयरपोर्ट के कस्टम काउंटर पर गए थे। और दुबाई से लाई गई सभी चीजों की कस्टम ड्यूटी भरी। क्रिकेटर का आरोप है कि उन्हें लेकर सोशल मीडिया पर गलत तरह से चीजों को फैलाया जा रहा है।

 दुबई से टी-20 वर्ल्ड कप से बाहर होने के बाद भारतीय टीम भारत लौट आई है। टी-20 वर्ल्ड कप में हार्दिक पंड्या ने अपनी खराब फिटनेस और फॉर्म दोनों से निराश किया था। 5 मैचों की तीन पारियों में पंड्या 34.50 की औसत के साथ सिर्फ 69 रन बनाए थे। पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने केवल चार ओवरों की गेंदबाजी की और एक भी विकेट नहीं ले सके।