लखीमपुर हत्याकांड के खिलाफ कांग्रेस का मौन प्रदर्शन, विपक्ष ने साधा सरकार पर निशाना

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने किया मौन प्रदर्शन, जिला स्तर पर जुटे कार्यकर्ता, यूपी सरकार को बर्खास्त करने की मांग, पूर्व CM रमन सिंह ने कहा छत्तीसगढ़ के किसानों की पीड़ा तो महसूस करें मुख्यमंत्री

Updated: Oct 11, 2021, 04:34 PM IST

लखीमपुर हत्याकांड के खिलाफ कांग्रेस का मौन प्रदर्शन, विपक्ष ने साधा सरकार पर निशाना
Photo Courtesy: Bhaskar

रायपुर। लखीमपुर हत्या हत्याकांड के विरोध में देशभर में कांग्रेस ने मौन प्रदर्शन किया। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मौन रखा। राजधानी रायपुर स्थित डॉक्टर अंबेडकर प्रतिमा के पास कांग्रेसजनों ने  धरना दिया जिसमें बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने दंतेवाड़ा में मौन धरना दिया। कांग्रेस की मांग है कि उत्तर प्रदेश सरकार को जल्द से जल्द बर्खास्त किया जाए।छत्तीसगढ़ के सभी जिला मुख्यालयों में कांग्रेस ने मौन प्रदर्शन किया।

सोमवार को कांग्रेस ने यूपी के लखीमपुर खीरी में किसानों के नरसंहार के खिलाफ प्रदेश भर में मौन प्रदर्शन किया। रायपुर में विधायक सत्यनारायण शर्मा, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय, रायपुर महापौर एजाज ढेबर समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता मौजूद थे। सत्यनारायण शर्मा धरना स्थल पर माला जाप करते नजर आए। धरना स्थल पर कार्यकर्ताओं ने हाथों में तख्तियां थाम रखी थीं। जिसमें लखीमपुर में हुई घटना के दोषियों को सजा और यूपी सरकार को बरखास्त करने की मांग थी।

और पढें: जनता को न्याय दिलाने में असफल है बीजेपी, किसान न्याय रैली में प्रियंका का वार    

कांग्रेस के मौन प्रदर्शन पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कटाक्ष किया है। उनका कहना है कि कांग्रेस को प्रदेश के किसानों की चिंता नहीं है। जब छत्तीसगढ़ का किसान आत्महत्या करता है, या आदिवासी मारे जाते हैं तब कांग्रेसी संवेदना व्यक्त करने तक नहीं पहुंचते। यूपी के लिए उदारता दिखाई जा रही है।

और पढें: लखीमपुर नरसंहार पर UP बीजेपी अध्यक्ष ने दी नसीहत, नेतागिरी का मतलब फॉर्च्यूनर से कुचलना नहीं होता

रमन सिंह ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की पीड़ा तो महसूस करें। रमन सिंह का आरोप है कि अगर प्रियंका गांधी और राहुल गांधी लखीमपुर नहीं जाते तो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कतई वहां नहीं जाते। दरअसल लखीमपुर खीरी में 4 किसानों और एक पत्रकार की मौत होने पर उनके परिजनों को 50-50 लाख की मदद का ऐलान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया है। जिसकी वजह से विपक्ष सरकार पर हमलावर है।