लखीमपुर नरसंहार पर UP बीजेपी अध्यक्ष ने दी नसीहत, नेतागिरी का मतलब फॉर्च्यूनर से कुचलना नहीं होता

स्वतंत्र देव सिंह ने अपने संबोधन में लखीमपुर खीरी नरसंहार का जिक्र तो नहीं किया, लेकिन कार्यकर्ताओं को दी गई उनकी इस नसीहत को उनकी प्रतिक्रिया के तौर पर ही देखा जा रहा है

Publish: Oct 11, 2021, 09:40 AM IST

लखीमपुर नरसंहार पर UP बीजेपी अध्यक्ष ने दी नसीहत, नेतागिरी का मतलब फॉर्च्यूनर से कुचलना नहीं होता
Photo Courtesy: oneindia

लखनऊ। लखीमपुर खीरी नरसंहार पर अब तक बीजेपी ने मौन व्रत धारण किया हुआ था। यूपी बीजेपी के तमाम बड़े नेता इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे थे। लेकिन अब खुद उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखीमपुर खीरी को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दे दी है। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि नेतागिरी का मतलब किसी को फॉर्च्यूनर से कुचलना नहीं होता।

स्वतंत्र देव सिंह ने यह बात रविवार को राजधानी लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में कही। बीजेपी नेता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चा के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को हिदायत देते हुए कहा कि नेतागिरी का मतलब किसी व्यक्ति को अपनी फॉर्च्यूनर से कुचल देना नहीं होता। 

बीजेपी नेता ने कहा कि नेतागिरी का मतलब यह नहीं है कि आप किसी को लूटने आए हैं। नेतागिरी का मतलब यह भी नहीं है कि आप किसी को फॉर्च्यूनर से कुचलने आए हैं। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि जनता आपके व्यवहार पर ही आपको वोट करती है। इतना ही नहीं बीजेपी नेता ने यह भी कहा कि जब आप वाहन से चलें तो पूरी सतर्कता के साथ चलें। आपके वाहन से किसी अन्य व्यक्ति को असुविधा नहीं होनी चाहिए। 

हालांकि स्वतंत्र देव सिंह ने अपने पूरे बयान में एक मर्तबा भी लखीमपुर खीरी का जिक्र नहीं किया। लेकिन इसके बावजूद उनकी नसीहत का तात्पर्य लखीमपुर में हुए नरसंहार को निकाला जा रहा है। लखीमपुर खीरी में किसानों को फॉर्च्यूनर से बेरहमी से रौंद दिया गया था। इस मामले में मुख्य आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी का बेटा आशीष मिश्रा है। मामले में काफी विरोध बढ़ने के बाद यूपी पुलिस ने केंद्रीय मंत्री के बेटे को गिरफ्तार कर लिया है।