छत्तीसगढ़ में किसानों से धान खरीदी के बदले रिश्वत की मांग, लोरमी SDM ने दोषियों पर कार्रवाई के दिए निर्देश

लोरमी के धान खरीदी केंद्र में किसान से मांगे 6 हजार रुपए और दो बोरी अतिरिक्त धान, दर्जनभर किसानों से खरीदी के बिना बिक्री पत्रक में दर्ज किए नाम, खराब क्वालिटी की धान बताकर लौटा रहे उपज

Updated: Jan 07, 2022, 06:55 PM IST

छत्तीसगढ़ में किसानों से धान खरीदी के बदले रिश्वत की मांग, लोरमी SDM ने दोषियों पर कार्रवाई के दिए निर्देश
Photo Courtesy: NEWS 36

रायपुर। छत्तीसगढ़ के लोरमी में धान खरीदी केंद्र पर भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। खुड़िया धान खरीदी केंद्र के कर्मचारियों पर आरोप है कि वे बिना रिश्वत लिए किसानों की धान नहीं खरीद रहे हैं। दिसंबर में दर्जनभर किसानों की धान तौले बिना ही उनके नाम बिक्री पत्रक में दर्ज कर लिए गए। शुक्रवार को भी एक ग्रामीण से 180 बोरी धान की खरीदी के बदले 6 हजार रुपए और दो बोरी अतिरिक्त धान की मांग की गई।

कर्मचारी ने किसान से कहा था कि उसे केवल 2 हजार रुपए मिलेगा बाकि 4 हजार रुपए उसे प्रबंधक को देना पड़ेगा। किसान ने इस मामले की शिकायत लोरमी SDM से की है। SDM ने मामले की जांच और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की बात कही है, कर्मचारियों को शोकॉज नोटिस जारी कर दिया गया है।

और पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2 हज़ार के पार, नेता प्रतिपक्ष समेत कई सरकारी पदाधिकारी पॉजिटिव

छत्तीसगढ़ में बीते एक दिसंबर से वर्ष 2021-22 के लिए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की जा रही है। प्रदेश में इस साल 22.66 लाख किसानों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। प्रदेश की 2399 सहकारी समितियों के माध्यम से धान उपार्जन हो रहा है। प्रदेश में 105 लाख मीट्रिक टन धान का लक्ष्य है। 31 जनवरी 2022 तक खरीदी होगी। उच्च क्वालिटी की धान के लिए समर्थन मूल्य 2500 रुपए है।