833 किलो गांजे के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, रायपुर से एक आरोपी फरार

राजस्व खुफिया निदेशालय को चकमा देकर भागा तस्करी का आरोपी, तलाश में जुटी पुलिस, आंध्र प्रदेश की गाड़ी में पकड़ी गई है गांजे की खेप, गांजे का बाजार मूल्य 1 करोड 70

Updated: Oct 06, 2021, 02:07 PM IST

833 किलो गांजे के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, रायपुर से एक आरोपी फरार
Photo Courtesy: jagran

रायपुर। छत्तीसगढ़ में खूफिया विभाग ने गरियाबंद से डेढ़ करोड़ से ज्यादा के गांजे की खेप पकड़ी है। इस गांजे की कीमत 1 करोड़ 70 लाख बताई जा रही है। DRI ने 833 किलो गांजे के साथ 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। लेकिन इस मामले का आरोपी भागने में कामयाब हो गया। DRI ने तस्करी के दौरान उपयोग में लाई गई गाड़ी को भी कब्जे में ले लिया है। तस्करों की पहचान बंडारी चंद्रशेखर और भूपेंद्र सिंह के रुप में हुई है। दोनों आरोपियों को गरियाबंद  से रायपुर ऑफिस लाया गया है। जहां से एक आरोपी बंडारी चन्द्रशेखर फरार होने में कामयब हो गया। DRI ने मामले की शिकायत रायपुर के सिविल लाइन थाने में दर्ज करवाई है।

तस्करी में उपयोग किया गया वाहन आंध्रप्रदेश का था। फिलहाल पुलिस गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ में जुटी है। आरोपी से कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है। वहीं फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। यह पहला मौका नहीं है जब प्रदेश में इतनी बड़ी मात्रा में गांजा बरामद किया गया है। दो दिन पहले रविवार को गरियाबंद के छुरा इलाके से भी बड़ी मात्रा में गांजे की खेप पकड़ाई थी।

छत्तीसगढ़  के सीमावर्ती राज्यों से गांजा तस्करी के कई मामले सामने आते रहे हैं।   जुलाई में पुलिस ने ओडिशा से लाई जा रही 88 किलो की गांजे की खेप बरामद की थी। जिसकी बाजार कीमत 18 लाख रुपए थी। वहीं कोरोना काल में कई सब्जी व्यापारी और होम डिलिवरी के नाम पर गाड़ियों में नशे का सामान बेचते पकड़े गए थे।