चीन में छात्रों ने प्रिंसिपल को बंधक बनाया, कॉलेज के विलय से नाराज थे छात्र, 30 घंटे बाद छूटे प्रिंसिपल

चीन के जियांग्सु प्रांत में नानजिंग कॉलेज का विलय एक वोकेशनल संस्थान के साथ करने की योजना है, छात्रों को डर है कि उनकी डिग्री को कमतर किया जा सकता है

Updated: Jun 10, 2021, 10:44 AM IST

चीन में छात्रों ने प्रिंसिपल को बंधक बनाया, कॉलेज के विलय से नाराज थे छात्र, 30 घंटे बाद छूटे प्रिंसिपल
Photo Courtesy: BBC

जियांग्सु। चीन के जियांग्सु प्रांत से एक अजीबोगरीब घटना सामने आया है। यहां नानजिंग कॉलेज के छात्रों ने अपने ही प्रिंसिपल को बंधक बना लिया। स्थिति इतनी खराब हुई कि पुलिस को बुलाना पड़ा और 30 घंटे बाद छात्रों ने प्रिंसिपल को छोड़ा। पुलिस के मुताबिक कॉलेज का विलय एक वोकेशनल संस्थान के साथ करने की योजना है और छात्रों को डर है कि उनकी डिग्री को कमतर किया जा सकता है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक कॉलेज प्रशासन ने प्रदर्शनकारी छात्र को आश्वासन दिया है कि विलय को निरस्त किया जा रहा है। इसके बावजूद छात्रों का हंगामा जारी रहा, नतीजतन प्रिंसिपल को छुड़ाने के लिए पुलिस को बलप्रयोग करना पड़ा। चीन में इस तरह के विरोध प्रदर्शन कम ही देखने को मिलते हैं। 

स्थानीय पुलिस द्वारा मंगलवार को जारी बयान के मुताबिक जियांग्सु प्रांत की नानजिंग नॉर्मल यूनिवर्सिटी के ज़ोंगबेइ कॉलेज में सैंकड़ों छात्र इकट्ठा हुए और 55 साल के प्रिंसिपल को कैंपस के भीतर ही 30 घंटे तक बंधक बनाए रखा। पुलिस के मुताबिक छात्रों ने गालियाँ दीं और प्रशासन का रास्ता रोका, और ये घोषणा हो जाने के बाद भी कि विलय स्थगित की जाती है, उन्होंने प्रिंसिपल को नहीं जाने दिया।

यह भी पढ़ें: कोरोना फैलने से पहले ही चीन ने बना ली थी वैक्सीन, टॉप वायरोलॉजिस्ट ने कही ये बात

चीन के सोशल सोशल मीडिया पर इस घटना की तस्वीरें वायरल हो रही थी जिनमें पुलिस छात्रों को लाठियों से पीटती और उनपर पेपर स्प्रे करती दिखाई दे रही है। पुलिस की बर्बरता को लेकर सोशल मीडिया पर एक कैंपेन भी चलाया गया। हालांकि, इससे जुड़े हैशटैग को थोड़े देर में ही वहां के माइक्रोब्लॉगिंग साइट वीबो पर ब्लॉक कर दिया गया। 

पुलिस द्वारा जारी बयान के अनुसार कॉलेज परिसर में यथास्थिति बहाल करने के लिए क़ानून के हिसाब से जरूरी कार्रवाई की गई और इस दौरान घायल हुए लोगों को अस्पताल भी भेजा गया। प्रिंसिपल को बंधक बनाए जाने की इस घटना के बाद जियांग्सु प्रांत के सभी 6 कॉलेजों ने कहा है कि वो मार्च में प्रस्तावित विलय की योजनाओं को तत्काल स्थगित कर रहे हैं। बता दें की चीन में उच्च शिक्षा को लेकर छात्रों में जबरदस्त आकर्षण रहती है। चीन में इस साल यूनिवर्सिटी से रिकॉर्ड 90 लाख छात्र ग्रेजुएट की डिग्री हासिल करेंगे।