भोपाल में आवारा कुत्तों का आतंक, चार साल की बच्ची को नोंचा, पेट लवर बोली- कुत्ते नहीं, बच्चे आवारा हैं

भोपाल के कोलार इलाके में 4 साल की बच्ची पर कुत्ते ने हमला कर दिया, इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने उसकी जान बचाई।

Updated: Nov 06, 2022, 04:54 PM IST

भोपाल में आवारा कुत्तों का आतंक, चार साल की बच्ची को नोंचा, पेट लवर बोली- कुत्ते नहीं, बच्चे आवारा हैं

भोपाल। राजधानी भोपाल में आवारा कुत्तों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। राजधानी के कोलार इलाके में आवारा कुत्ते ने एक चार साल की मासूम पर हमला कर दिया। इस दौरान बच्ची घायल हो गई। हैरानी की बात ये है कि नगर निगम की टीम जब कुत्तों को पकड़ने आई तो एक पेट लवर महिला ने ये कहते हुए उन्हें रोका की आवारा कुत्ते नहीं यहां के बच्चे आवारा हैं।

जानकारी के मुताबिक बच्ची घर के पास खेल रही थी, तभी झुंड में से एक कुत्ता बच्ची पर टूट पड़ा। लोगों ने उसे बचाया। मोहल्ले वालों की शिकायत पर जब नगर निगम की टीम कुत्तों को पकड़ने पहुंची तो एक पेट लवर महिला आड़े आ गई। लोगों का आरोप है कि महिला ने टीम को कुत्तों को नहीं ले जाने दिया। घायल बच्ची के परिजन ने पेट लवर महिला की कोलार रोड थाने में शिकायत की है।

यह भी पढ़ें: युवाओं को स्वरोजगार, बुजुर्गों को सम्मान निधि, MP की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस का खास प्लान

सर्वधम कॉलोनी निवासी भगवान दास (32), पत्नी के साथ दानिश हिल्स व्यू पर मजदूरी करते हैं। उन्होंने बताया कि यह घटना बीते 3 नवंबर की है जब उनकी 4 साल की बेटी घर के पास खेल रही थी। तभी कुत्तों की झुंड में से एक कुत्ता आकर उसे नोंचने लगा है। गनीमत रही की मौके पर मौजूद लोगों ने तत्काल उसे कुत्तों से बचाया। स्थानीय लोगों की शिकायत पर नगर निगम से आवारा कुत्तों को पकड़ने के लिए एक टीम आई थी। लेकिन वसुंधरा नाम की महिला ने नगर निगम टीम को आवारा कुत्तों को नहीं पकड़ने दिया। 

स्थानीय लोगों के मुताबिक महिला कुत्तों को रोज खाना खिलाती है। भगवान दास का आरोप है वसुंधरा को मोहल्ले वालों ने समझाया कि आवारा कुत्ते बच्चों के लिए खतरा बनते जा रहे हैं। इस पर वह झगड़ा करने लगी। बोली- कुत्ते आवारा नहीं हैं, यहां के बच्चे आवारा हैं। एक भी कुत्ता इस कॉलोनी से नहीं जाएगा। वसुंधरा का कहना है, वो भी जीव हैं, उन्हें भी जीने का हक है। इतना ही नहीं महिला ने भी दूसरे पक्ष के खिलाफ थाने में शिकायत की है।