युवाओं को स्वरोजगार, बुजुर्गों को सम्मान निधि, MP की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस का खास प्लान

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने सभी आयु वर्गों के मतदाताओं को साधना प्रारंभ कर दिया है।

Updated: Nov 06, 2022, 05:59 PM IST

युवाओं को स्वरोजगार, बुजुर्गों को सम्मान निधि, MP की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस का खास प्लान

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने युद्धस्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है। कांग्रेस ने अभी से ही मेनिफेस्टो पर काम करना शुरू कर दिया है। मेनिफेस्टो को लेकर पीसीसी चीफ दो-तीन बार बैठक भी कर चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में युवाओं और बुजुर्गों को साधने के लिए खास प्लान तैयार किया है।

विधानसभा चुनाव से तीन माह पूर्व जो वचन पत्र जारी किया जाएगा, उसमें सत्ता में आने पर वरिष्ठ नागरिकों को सम्मान निधि (पेंशन) देने का प्रावधान करने का वादा होगा। आय की वार्षिक सीमा निधि प्राप्त करने के आड़े नहीं आएगा पर इसका लाभ उन्हें ही मिल सकेगा, जिन्हें अभी किसी प्रकार की पेंशन नहीं मिल रही है। प्रदेश में 60 वर्ष से अधिक आयु के 70.18 लाख मतदाता हैं।

दरअसल, आय की सीमा का बंधन होने के कारण बड़ी संख्या में वरिष्ठ नागरिक सामाजिक सुरक्षा पेंशन के दायरे में नहीं आ पाते हैं। इस प्रावधान को समाप्त किया जाएगा और सिर्फ एक व्यवस्था होगा कि जिस वरिष्ठ नागरिक को पूर्व से कोई पेंशन प्राप्त नहीं हो रही है, उसे सम्मान निधि मिलेगी। यदि कांग्रेस के इस कदम से प्रभावित होते हैं तो वे पार्टी के पक्ष में घर से लेकर समाज तक में वातावरण बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

बता दें कि प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए सभी वर्गों को साधने का प्रयास कर रही है। वचन पत्र के माध्यम से कांग्रेस युवाओं के लिए स्वरोजगार योजना और रिक्त शासकीय पदों को समयसीमा में भरने, अनसुचित जाति-जनजाति वर्ग के युवाओं के लिए विशेष योजना, किसानों की ऋण माफी, कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन की बहाली, पेंशनर की समय पर महंगाई राहत में वृद्धि की व्यवस्था, महिला स्व-सहायता समूहों का विस्तार सहित अन्य विषयों को लेकर आमजन के बीच जाएगी।

वचन पत्र के अलावा कांग्रेस आरोप पत्र भी लाएगी। यह पहली बार होगा जब मेनिफेस्टो के साथ आरोप पत्र लाया जा रहा हो। इसके संबंध में भी प्रारंभिक बैठक हो चुकी है। आरोप पत्र के माध्यम से  बेरोजगारी, महंगाई और योजनाओं में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर शिवराज सरकार को घेरने की तैयारी है।