क्षेत्र के लोगों ने की एम्बुलेंस की मांग तो कांग्रेस MLA ने अपनी लग्जरी एसयूवी को बना दिया एम्बुलेंस

मध्यप्रदेश के गुना जिले के चांचौड़ा विधानसभा क्षेत्र का मामला, कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने जरूरतमंदों के लिए सौंपी अपनी फॉर्च्यूनर

Updated: May 18, 2021, 05:37 PM IST

क्षेत्र के लोगों ने की एम्बुलेंस की मांग तो कांग्रेस MLA ने अपनी लग्जरी एसयूवी को बना दिया एम्बुलेंस

गुना। मध्यप्रदेश के सुदूर क्षेत्रों में कोरोना ने ग्रामीणों पर बुरा असर डाला है। ग्रामीण इलाकों में कोरोना संकट के दौर में कुव्यवस्थाओं के कारण लोगों पर दोहरी मार पड़ी है। राज्य में कई उपस्वास्थ्य केंद्र में एम्बुलेंस तक कि सुविधा नहीं है और इस बात की शिकायत करने पर न प्रशासन न ही जनप्रतिनिधि  सुनने को तैयार है। लेकिन कुछ जनसेवक ऐसे भी हैं जो राजनीति से इतर जनता की सेवा में स्वयं को पूरी तरह समर्पित कर दे रहे हैं। ऐसा ही एक मामला चांचौड़ा से आया जहां एम्बुलेंस नहीं होने की शिकायत पर स्थानीय विधायक ने अपनी लग्जरी एसयूवी जनता की सेवा में लगा दिया।

बताया जा रहा है कि चांचौड़ा में एम्बुलेंस न होने के कारण स्थानीय लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। बेहतर इलाज न मिल पाने की स्थिति में लोग कोरोना के खिलाफ जंग हार रहे थे। एम्बुलेंस न होने की शिकायत जब स्थानीय लोगों ने कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह से की तो उन्होंने शासन-प्रशासन से तत्काल एम्बुलेंस मुहैया कराने की मांग की, लेकिन हद तो तब हुई जब विधायक की मांग को नजरअंदाज कर दिया गया। 

यह भी पढ़ें: गोबर चिकित्सा से ठीक नहीं होता कोरोना, उल्टे हो सकते हैं ब्लैक फंगस के शिकार

ऐसे में लक्ष्मण सिंह ने एम्बुलेंस की कमी पूरी करने के लिए अपनी लग्जरी एसयूवी फॉर्च्यूनर मरीजों को सौंप दी। मंगलवार से लक्ष्मण सिंह का वाहन मरीजों को शहर तक ले जाने काम शुरू कर दिया है। अबतक कई मरीज इसका उपयोग कर चुके हैं। खास बात यह है कि इसके लिए कोई पैसा नहीं लिया जा रहा है, यहां तक कि तेल और ड्राइवर खर्च भी लक्षमण सिंह ही उठा रहे हैं।

कांग्रेस विधायक ने इस बारे में कहा कि, 'चांचौड़ा विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने मुझे सेवा का अवसर दिया है। मेरा भी फर्ज बनता है कि यथासंभव लोगों की सेवा में लगा रहूं। इस संकट के समय में जो भी मुझसे बन सकता है वह मैं करने के लिए प्रतिबद्ध हूं। अपनी फॉर्च्यूनर वाहन एंबुलेंस के रूप में निशुल्क चलाने के लिए शासन को दे दी है। आज से उसकी सेवाएं शुरू हो गई हैं।'