राजगढ़ के लोगों के लिए दिग्विजय सिंह ने उठाई आवाज, सीएम शिवराज को लिखा पत्र

राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र का बतौर संसद प्रतिनिधित्व कर चुके दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज को लिखा पत्र, राजगढ़ के स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग की

Updated: May 01, 2021, 11:01 PM IST

राजगढ़ के लोगों के लिए दिग्विजय सिंह ने उठाई आवाज, सीएम शिवराज को लिखा पत्र

राजगढ़। मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम व राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र से सांसद रह चुके दिग्विजय सिंह ने राजगढ़ के लोगों के लिए आवाज उठाई है। कांग्रेस नेता ने सीएम शिवराज से राजगढ़ जिला अस्पताल में तत्काल वेंटिलेटर की व्यवस्था शुरू करने की मांग की है। राज्यसभा सांसद ने सीएम को बाकायदा पत्र लिखकर राजगढ़ की समस्याओं से रूबरू करवाया है।

सीएम शिवराज को संबोधित पत्र में कांग्रेस नेता ने लिखा, 'राजगढ़ के जिला अस्पताल में वेंटिलेटर होने के बावजूद आज काम नहीं कर पा रहे हैं। बिगड़े वेंटिलेटर को ठीक कराने का प्रयास नहीं किया जा रहा है। जिससे गंभीर मरीज मौत का शिकार बन रहे है। कोविड से अब तक जिले में 200 से अधिक लोग जान गवां चुके है। सैंकड़ों लोग भोपाल और इंदौर में भर्ती है। जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। ऑक्सीजन बैंड से लेकर रेमडेसिवर इंजक्शन और जरूरी दवाइयों तक की मारामारी है। वेंटीलेटर तत्काल ठीक कराए जाने चाहिए।' 

दिग्विजय सिंह ने मांग की है कि इस परिस्थिति के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए तथा आवश्यक उपकरण मुहैया कराया जाए। कांग्रेस नेता ने पत्र में आगे लिखा कि, 'कोरोना की दूसरी लहर भयावह है और शहरी व ग्रामीण दोनों इलाकों में लगातार मरीज और मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। लेकिन जिला अस्पताल राजगढ़ में जिम्मेदारियों की अनदेखी जारी है।' राज्यसभा सांसद ने कहा है कि वेंटिलेटर जैसे महत्वपूर्ण उपकरण का बन्द होना घोर लापरवाही है। तथा जिला अस्पताल में वेंटिलेटर मौजूद होने के बावजूद उनका उपयोग नहीं होना गंभीर चिंता का विषय है।'

यह भी पढ़ें: चुनाव ड्यूटी के दौरान 700 शिक्षकों की मौत पर भड़कीं प्रियंका, कहा- जबरन ड्यूटी के लिए किया गया मजबूर

कांग्रेस सांसद ने आरोप लगाया है कि इस सम्बन्ध में प्रमुख जन प्रतिनिधियों से साथ-साथ समाचार पत्रों द्वारा ध्यान आकर्षित करने के बावजूद भी जिम्मेदार विभागीय अधिकारियों द्वारा व्यवस्था ठीक करने की दिशा में आवश्यक कदम नहीं उठाया जा रहा है। पत्र में उन्होंने लिखा, 'परिजन मरीजों को भोपाल, इंदौर के अन्य चिकित्सा संस्थान में लेकर जा रहे हैं। जहां निजी अस्पतालों में लोगों से रोजाना लाखों रुपये लूटे जा रहे हैं।' पूर्व सीएम ने मौजूदा मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि, 'मानवता को बचाने के लिये वह इस संवेदनशील मामले को गंभीरता से लेकर जिले में उपलब्ध वेंटिलेटर सहित अन्य सभी उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का कष्ट करें।'