मंत्री तुलसी सिलावट का प्रतिनिधि बन कर 50 लोगों से ठगी, नौकरी दिलाने के नाम लाखों रुपए वसूले

जल संसाधन विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी उजागर, बेरोजगारों को दिया सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

Updated: Mar 20, 2021, 12:33 PM IST

मंत्री तुलसी सिलावट का प्रतिनिधि बन कर 50 लोगों से ठगी, नौकरी दिलाने के नाम लाखों रुपए वसूले
Photo courtesy: Times of India

इंदौर। मध्य प्रदेश के जल संसाधन विभाग में सरकारी नौकरी लगवाने का झांसा देकर 50 से ज्यादा बेरोजगार युवकों को ठगे जाने का मामला सामने आया है। शातिर बदमाश खुद को मंत्री तुलसीराम सिलावट का प्रतिनिधि बताता था और उन्हीं के विभाग में नौकरी दिलवाने का झांसा देता था।

आरोपी ने इंदौर और उसके आस पास के बेरोजगार युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने का सब्जबाग दिखाया और उनसे रुपए वसूले। आरोपी ने किसी से एक लाख तो किसी से 50 हजार रुपए ऐंठे। लोगों ने सरकारी नौकरी के लालच में आकर शातिर ठग को पैसे दे दिए। इतना ही नहीं बदमाश ने फर्जी नियुक्ति पत्र भी दिया था। जब फरियादी युवक वह नियुक्ति पत्र लेकर विभाग में नौकरी ज्वाइन करने पहुंचा तब उसके पैरों तले जमीन खिसक गई।

विभाग में जाकर पता चला कि वह लेटर फर्जी है। दरअसल शातिर ठग ने बेरोजगार युवक को जल संसाधन विभाग का फर्जी नियुक्ति के पत्र छाप कर दे दिया था। युवक ने इस मामले की शिकायत इंदौर के भवरकुआं थाने में दर्ज करवाई। इसके बाद पुलिस ने योजना बनाकर आऱोपी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। एक अन्य युवक से नौकरी लगवाने में मदद मांगने के लिए आरोपी को फोन लगवाया। जब आरोपी बेरोजगार युवक से मिलने आया तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।