बड़वानी डीएफओ ऑफिस का घूसखोर क्लर्क ढ़ाई हजार की घूस लेते धराया, इंदौर लोकायुक्त ने की कार्रवाई

बड़वानी में डीएफओ दफ्तर का क्लर्क रिश्वत लेते गिरफ्तार, बढ़ई लाइसेंस बनवाने के नाम पर मांगी थी तीन हजार की घूस, इंदौर लोकायुक्त ने रंगेहाथ किया गिरफ्तार

Updated: Mar 27, 2021, 05:52 PM IST

बड़वानी डीएफओ ऑफिस का घूसखोर क्लर्क ढ़ाई हजार की घूस लेते धराया, इंदौर लोकायुक्त ने की कार्रवाई
Photo Courtesy: Naidunia

बड़वानी। इंदौर लोकायुक्त की टीम ने बड़वानी डीएफओ दफ्तर के क्लर्क को ढाई हजार की घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी क्लर्क ने अंजड़ निवासी गौतम पवार से बढ़ई लाइसेंस बनाने के नाम पर तीन हजार रुपये की रकम मांगी थी। जिसके बाद 2500 रुपए देने की बात पर सहमति बनी थी। इस बीच गौतम पवार ने मामले की शिकायत इंदौर लोकायुक्त पुलिस में कर दी। जिसके बाद इंदौर लोकायुक्त ने पूरी मामले की जांच कर योजनाबद्ध तरीके से आरोपी क्लर्क को रंगे हाथों पकड़ा।

दरअसल गौतम की अंजड़ में राजपुर रोड पर एक फर्नीचर की दुकान है। इसी सिलसिले में उसे अपना बढ़ई लाइसेंस रिन्यू करवाना था। लेकिन वन मंडल अधिकारी कार्यालय बड़वानी का क्लर्क इंदरराज सिसोदिया काम करने में लगातार आनाकानी कर रहा था। उसने फरियारी से फोन पर रुपए की मांग की जिसके बाद मामला लोकायुक्त तक पहुंचा और आरोपी क्लर्क को गिरफ्तार कर लिया गया।

शनिवार दोपहर इंदौर लोकायुक्त की टीम ने बड़वानी जिला मुख्यालय के वन मंडल अधिकारी कार्यालय में इस कार्रवाई को अंजाम दिया। इस मामले की पुष्टि लोकायुक्त इंस्पेक्टर आशा सेजकर ने की है। उन्होंने बताया कि गौतम पवार ने लोकायुक्त एसपी से इस मामले की शिकायत 25 मार्च को की थी। फरियादी ने बताया था कि वन मंडल अधिकारी कार्यालय बड़वानी का क्लर्क इंदरराज सिसोदिया बढ़ई लाइसेंस के रिनुअल के नाम पर घूस की मांग कर रहा है। जिसके बाद शनिवार दोपहर फरियादी गौतम ने आफिस आकर क्लर्क इंदरराज सिसोदिया को ढाई हजार रुपए दिए वैसे ही लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया। आरोपी पर केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई जारी है।