कमलनाथ का एलान, आगामी निकाय चुनाव में 27% टिकट पिछड़े वर्ग को देगी कांग्रेस

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव जून में होंगे, हम आज ही नगरीय निकाय चुनाव कराने के लिए हैं तैयार

Updated: May 11, 2022, 05:22 PM IST

कमलनाथ का एलान, आगामी निकाय चुनाव में 27% टिकट पिछड़े वर्ग को देगी कांग्रेस

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में ओबीसी आरक्षण का मुद्दा कांग्रेस पार्टी के लिए संजीवनी साबित होता दिख रहा है। एक ओर राज्य सरकार अपना बचाव करने में लगी है, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज चौहान पर लगातार हमलावर है।
आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने वीडियो जारी कर घोषणा की कि आगामी निकाय चुनाव में कांग्रेस पार्टी 27% टिकट पिछड़े वर्ग को देगी।

यह भी पढ़ें: नेमावर हत्याकांड में सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर, 9 लोगों को बनाया आरोपी

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि "हमें भाजपा सरकार से कोई उम्मीद नहीं है। उन्होंने 2 साल तक कोई प्रयास नहीं किये, कोई कानून नहीं लाये, संविधान में संशोधन हो सकता था कि ओबीसी वर्ग को आरक्षण का लाभ मिले, लेकिन इन्होंने कोई कार्यवाही नहीं की। इसीलिए सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा फैसला दिया है। 
अब पछताए होत क्या, जब चिड़िया चुग गयी खेत" 

 

उन्होंने आगे कहा कि "शिवराज जी, जब आपके पास सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर ट्रिपल टेस्ट की प्रक्रियाओं को पूरा करने के लिये पर्याप्त समय था, तब तो आपकी सरकार ने कुछ किया नहीं। आधी- अधूरी रिपोर्ट व आधे-अधूरे आँकड़े पेश किए, जिसके कारण ओबीसी वर्ग का हक़ मारा गया और प्रदेश में बग़ैर ओबीसी आरक्षण के पंचायत चुनाव का निर्णय सामने आया।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने राजद्रोह कानून पर लगाई रोक, जेल में बंद आरोपी भी लगा सकेंगे जमानत अर्जी

अब आप भले अपनी विदेश यात्रा निरस्त करें या कुछ भी कहें, लेकिन आपकी सरकार के नाकारापन का ख़ामियाज़ा तो ओबीसी वर्ग के नुक़सान के रूप में सामने आ ही चुका है। आपने जो ज़ख़्म दिये है, अब वो किसी भी दवा से ठीक होने वाले नहीं है। प्रदेश का ओबीसी वर्ग इस सच्चाई को जान चुका है, अब वो आपके किसी भी गुमराह करने वाले झाँसे में आने वाला नहीं है।

यह भी पढ़ें: MP में खुलेगी NIA की ब्रांच, आतंकवादी गतिविधियों पर रखी जायेगी नजर

इधर प्रदेश चुनाव आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने कहा है कि "हर हाल में नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव जून में होंगे।" उन्होंने कहा कि "हम आज ही नगरीय निकाय चुनाव कराने के लिए तैयार हैं, 12 जून तक एक चुनाव कराया जाएगा। 30 जून तक दोनों चुनाव कराए जाएंगे। नगरीय निकाय चुनाव कराना आज की तारीख में आसान है।"