पुलिस अधिकारियों के मोबाइल से कनेक्ट होंगे मध्यप्रदेश के शहरों में लगे CCTV कैमरे

मध्यप्रदेश के 10 शहरों और एक धार्मिक स्थल पर लगे कैमरों का होगा प्रभावी उपयोग, डीआईजी, आईजी व एसपी रैंक के अधिकारी मोबाइल से ही देख सकेंगे वस्तुस्थिति

Updated: Apr 11, 2021, 12:35 PM IST

पुलिस अधिकारियों के मोबाइल से कनेक्ट होंगे मध्यप्रदेश के शहरों में लगे CCTV कैमरे
Photo Courtesy: Punjab kesari

भोपाल। मध्यप्रदेश का पुलिस बल हाईटेक होने जा रहा है। पुलिस रेडियो मुख्यालय ने इसके लिए विशेष प्लान बनाया है। अब राज्य के पुलिस अधिकारी कहीं भी बैठे-बैठे पूरे शहर पर नजर रख सकते हैं। दरअसल, मध्यप्रदेश के शहरों में लगे सीसीटीवी कैमरों को पुलिस के आलाधिकारियों के मोबाइल फ़ोन से जोड़ने की तैयारी है, ताकि मोबाइल पर ही वे शहर के वस्तुस्थिति का जायजा ले सकें।

रिपोर्ट्स के मुताबिक फिलहाल राज्य के दस बड़े शहरों और एक धार्मिक स्थल पर लगे सीसीटीवी के कैमरों को मोबाइल से जोडने का काम चल रहा है। इसके लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन डेवलप किया जा रहा है जिससे शहर में लगे सैंकड़ों सीसीटीवी विजुअल्स दो आसानी से लाइव देखा है सके। यह व्यवस्था शुरू होने के बाद सर्विलांस कैमरों के आउटपुट आईजी, डीआईजी और एसपी के मोबाइल फोन से जुड़ा रहेगा।

इस व्यवस्था को शुरू करने के पीछे पुलिस मुख्यालय ने तर्क दिया है कि आईजी, डीआईजी व एसपी जब किसी एक जगह पर मौजूद होते हैं तब उन्हें अन्य जगहों की वस्तुस्थिति नहीं मिलती। ऐसे में वे पुलिस की तैनाती पर नजर नहीं रख पाते हैं। इस व्यवस्था के शुरू होने के बाद वे समय-समय पर पुलिस की तैनाती चेक कर सकेंगे। यदि कोई अपराधी पुलिस को चकमा देकर भाग रहा हो तब उसे भी कैमरों की मदद से तत्काल ट्रेस कर सकेंगे।

एडीजी संजय झा ने कहा है कि इस व्यवस्था को जल्द शुरू करने के लिए हमारी टीम जोरशोर से काम कर रही है। फिलहाल मध्यप्रदेश के जिन शहरों में यह व्यवस्था शुरू की जाएगी उसमें भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, देवास, सागर, कटनी, सिंगरौली, खंडवा और ओंकारेश्वर शामिल है।