MP BJYM में नियुक्तियों का दौर जारी, 6 नए जिलाध्यक्षों की नियुक्ति, अजय पाटीदार को भोपाल की कमान

बुधवार को लगातार दूसरे दिन भाजयुमों के नए जिलाध्यक्षों की नियुक्ति, 6 जिलाध्यक्षों का नाम जारी, मंगलवार को भी हुए थे 5 जिलाध्यक्ष नियुक्त, यूथ कांग्रेस बोली- सिर्फ नाम जारी करोगे या कुछ काम भी करोगे

Updated: Dec 08, 2021, 01:13 PM IST

MP BJYM में नियुक्तियों का दौर जारी, 6 नए जिलाध्यक्षों की नियुक्ति, अजय पाटीदार को भोपाल की कमान

भोपाल। मध्य प्रदेश भाजयुमो में नियुक्तियों का दौर लगातार जारी है। युवा मोर्चा ने बुधवार को 6 नए जिलाध्यक्षों की नियुक्ति की है। इससे पहले मंगलवार को भी 5 जिलाध्यक्ष नियुक्त हुए थे। दरअसल, लंबे समय से आंतरिक मतभेदों के चलते नियुक्तियां रुकी हुई थी। ऐसे में अब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के दखल के बाद नियुक्तियां शुरू हो गई है।

भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष वैभव पवार द्वारा बुधवार को जिन 6 लोगों की नियुक्ति की गई है उनमें सिवनी की कमान युवराज राहंगडाले वहीं भोपाल नगर की कमान अजय पाटीदार को सौंपी गई है। इसके अलावा पन्ना में भास्कर पांडेय, शहडोल में प्रियम त्रिपाठी, आगर में प्रवेश गुप्ता और सागर में यश अग्रवाल को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। 

इसके पहले मंगलवार को पांच जिलाध्यक्षों की नियुक्ति हुई थी। इनमें सीधी से निशांत मिश्रा, टीकमगढ़ से अभय यादव, रीवा से विकास मिश्रा, खंडवा से अनूप पटेल और मंदसौर से सुनील पटेल शामिल हैं। दरअसल, बीते काफी समय से ये नियुक्तियां पेंडिंग थी। माना जा रहा है कि आंतरिक मतभेदों की वजह से भाजयुमो कार्यसमिति की सूची जारी नहीं हो पा रही थी इसका असर जिलाध्यक्षों की नियुक्ति पर भी पड़ा। 

भाजयुमो ने कई दौर के बैठकों के बाद सोमवार को कार्यसमिति की घोषणा की है। भाजयुमो कार्यसमिति की घोषणा में देर की वजह सिंधिया गुट के युवा नेता माने जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि भाजयुमो संगठन में सिंधिया अपने साथ आए युवाओं को ज्यादा से ज्यादा जगह दिलाना चाहते थे। जबकि भाजयुमो के पुराने कार्यकर्ताओं को यह मंजूर नहीं था। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के हस्तक्षेप के बाद अंतिम निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें: नरेंद्र मोदी सरकार सभी मोर्चे पर नाकाम, कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में बोलीं सोनिया गांधी

भाजयुमो में ताबड़तोड़ नियुक्तियों को लेकर यूथ कांग्रेस ने तंज कसा है। यूथ कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने कहा, 'मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि सिर्फ नाम ही जारी करोगे के या कुछ काम भी करोगे। मध्य प्रदेश भाजयुमो की टीम देशभर में सबसे निकृष्ट है। सिर्फ कार्यालय में कुर्सियां तोड़ने की बजाए भाजयुमो को सड़क पर उतरना चाहिए। देश के युवा बेरोजगारी से जूझ रहे हैं, लेकिन युवा मोर्चा इसपर एक शब्द नहीं बोलती। लानत है युवाओं के ऐसे संगठन पर।'