नर्मदा अस्पताल की नर्स ने एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगाकर किया सुसाइड, हॉस्पिटल प्रबंधन की भूमिका संदिग्ध

राजधानी भोपाल स्थित नर्मदा अस्पताल हॉस्टल का मामला, 24 वर्षीय नर्स ने किया सुसाइड, पिछले साल नर्मदा अस्पताल के डॉक्टर की हुई थी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

Updated: Nov 20, 2022, 02:04 PM IST

नर्मदा अस्पताल की नर्स ने एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगाकर किया सुसाइड, हॉस्पिटल प्रबंधन की भूमिका संदिग्ध

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक नर्स द्वारा एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या का मामला सामने आया है। राजधानी के नर्मदा अस्पताल में काम करने वाली नर्स विशाखा कहार ने ड्यूटी से आकर हॉस्टल में यह कदम उठाया। इस पूरे मामले में विशाखा के परिजन अस्पताल प्रबंधन की भूमिका संदिग्ध मान रहे हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार रात को ड्यूटी करने के बाद विशाखा अस्पताल से अपने हॉस्टल गई। रात में साथी नर्स ने उसका दरवाजा किसी काम से खटखाया, लेकिन विशाखा ने दरवाजा नहीं खोला। किसी अनहोनी की आशंका के चलते उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को इस बात की सूचना दी। जिसके बाद दरवाजा खुलवाया गया तो नर्स अचेत पड़ी हुई थी। 

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए लेजेंडरी अभिनेता अमोल पालेकर, कांग्रेस बोली- देश की आवाज बुलंद करने के लिए शुक्रिया

इसके बाद तुरंत पुलिस को सूचना देकर विशाखा को अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। प्रारंभिक जांच में विशाखा के एनेस्थीसिया इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या करने की बात सामने आई है। पुलिस को विशाखा के पास कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। ऐसे में सुसाइड के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

पुलिस मामले की जांच ने जुट गई है। वहीं विशाखा के परिजन अस्पताल प्रबंधन की भूमिका संदिग्ध बता रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन की भूमिका की जांच करने की मांग की है। परिजनों ने घटना की सूचना देरी से देने का आरोप लगाया।

बता दें एक साल पहले नर्मदा अस्पताल के ही डॉक्टर दीपक वर्मा की संदिग्ध हालात में कार में लाश मिली थी। वर्मा के ड्यूटी पर नहीं आने पर उनसे संपर्क किया गया। इसके बाद उनकी तलाश शुरू की गई। जिसके बाद उनकी लाश अस्पताल के सामने ही कार में मिली थी।