भोपाल स्थित कांग्रेस मुख्यालय में घुसी पुलिस, संघ प्रमुख को तिरंगा भेंट करने जा रहे नेताओं को रोका

प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की उपाध्यक्ष संगीता शर्मा पांच सदस्यीय टीम के साथ संघ प्रमुख को राष्ट्रध्वज भेंट करने जाने वाली थी, हालांकि, इसके पहले ही कांग्रेस मुख्यालय में पुलिस घुस गई और नेताओं को अंदर बंधक बना लिया, तिरंगा लेकर बाहर निकलने पर करेंगे गिरफ्तार

Updated: Aug 06, 2022, 04:22 PM IST

भोपाल स्थित कांग्रेस मुख्यालय में घुसी पुलिस, संघ प्रमुख को तिरंगा भेंट करने जा रहे नेताओं को रोका

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से बड़ी खबर आ रही है। यहां कांग्रेस मुख्यालय में बिना इजाजत के पुलिस घुस गई। पुलिसकर्मियों ने कांग्रेस मीडिया विभाग की उपाध्यक्ष संगीता शर्मा को बंधक बना लिया। पुलिस ने कहा कि यदि वह संघ प्रमुख को तिरंगा भेंट करने निकलेंगी तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

दरअसल, प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की उपाध्यक्ष संगीता शर्मा ने ऐलान किया था कि वह शनिवार को संघ प्रमुख डॉ मोहन भागवत को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा एवं संघ के इतिहास से जुड़ी पुस्तक भेंट करेंगी। वह 5 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल के साथ भोपाल स्थित पीपुल्स मॉल में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने आ रहे संघ प्रमुख भागवत को राष्ट्र के स्वाभिमान, गौरव, सम्मान और बलिदान का प्रतीक राष्ट्र ध्वज तिरंगा झंडा भेंट करने जाने वालीं थीं। हालांकि, भागवत का कार्यक्रम शुरू होने से पहले ही पार्टी मुख्यालय में पुलिस घुस गई और शर्मा को बंधक बना लिया।

कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा के कार्यालय में भी कई पुलिसकर्मी बैठे हुए हैं। कांग्रेस नेताओं के मुताबिक पुलिस ने कहा है कि यदि कोई भी यहां से राष्ट्रध्वज लेकर बाहर निकलने की कोशिश करेगा तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। कांग्रेस ने पुलिस के इस रवैए की सख्त आलोचना की है। मध्य प्रदेश कांग्रेस में ट्वीट किया, 'तिरंगे से RSS की नफ़रत सामने आई, 
— कांग्रेस नेता संगीता शर्मा के आरएसएस प्रमुख को तिरंगा भेंट करने के कार्यक्रम को पीसीसी कार्यालय में पुलिस भेजकर कुचलने की कोशिश। शिवराज जी,
अंग्रेजों के रास्ते चल रहे हो, याद रखना अंजाम भी अंग्रेजों जैसा ही होगा। “कायर शिवराज, डायर शिवराज”

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने भी इस मामले पर राज्य सरकार की तीखी आलोचना की है। सिंह ने एक ट्वीट में लिखा कि, 'मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में बिना किसी सूचना के घुसी पुलिस। कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष संगीता शर्मा आज आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को राष्ट्रध्वज तिरंगा भेंट करने जा रही हैं।
तिरंगा भेंट करने से पहले ही संगीता शर्मा के कक्ष में पहुंच गई पुलिस। मीडिया अध्यक्ष केके मिश्रा के कमरे में भी पुलिस तैनात। पीसीसी के बाहर भी पुलिस तैनात।
आजादी के अमृत महोत्सव में तिरंगा भेंट करना भी हो गया गुनाह।'

पीसीसी चीफ कमलनाथ कि भी इस मामले पर प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने लिखा कि, 'शिवराज सरकार कांग्रेस कार्यकर्ताओं को तिरंगा भेंट करने से रोक रही है। संगीता शर्मा और अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता आज संघ प्रमुख को तिरंगा भेंट कर रहे थे ताकि उनके अंदर भी राष्ट्रवाद की भावना जागृत हो सके। लेकिन इस कदम का स्वागत करने के बजाए सुबह से ही मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय को पुलिस ने घेर लिया। पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का रास्ता रोक लिया और तिरंगा भेंट नहीं करने दिया। मैं मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं कि आजाद भारत में क्या भाजपा की सरकार में राष्ट्रध्वज भेंट करना अपराध है?'