रतलाम: दादी के साथ नहाने गईं तीन बहनों की तालाब में डूबने से मौत, समय से नहीं पहुंचा एंबुलेंस

मध्य प्रदेश के रतलाम जिले से हृदय विदारक घटना सामने आई है। दादी के साथ तालाब में नहाने गईं तीन बहनों की डूबने से मौत हो गई। एक बहन के डूबने पर 2 बहनें उसे बचाने गई थीं, लेकिन वो भी डूब गईं।

Updated: Sep 03, 2022, 08:34 AM IST

रतलाम: दादी के साथ नहाने गईं तीन बहनों की तालाब में डूबने से मौत, समय से नहीं पहुंचा एंबुलेंस

रतलाम। मध्य प्रदेश के रतलाम में दादी के साथ नहाने गईं तीन बहनों की तालाब में डूबने से मौत हो गई थी। तीन बच्चियों के शवों को देखकर वहां मातम छा गया। बच्चियों को घटनास्थल से अस्पताल तक पहुंचाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं पहुंची। पुलिस वाहन में तीनों बहनों को सरकारी जिला अस्पताल लाया गया जहां उन शवों को स्ट्रेचर भी नसीब नहीं हुआ। पत्रकारों ने उन्हें उतारा और पुलिसकर्मी की मदद से उसे अस्पताल के अंदर ले गए। यहां डॉक्टर ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

मामला जिला मुख्यालय से मात्र 4 किलोमीटर दूर सागोद के पास की है। यहां बने एक तालाब पर नहाने के लिए तीन बहनें कुमकुम, पीहू, और अर्चना अपनी दादी के साथ गई थीं। नहाते समय पैर फिसलने से एक बच्ची तालाब में गिर गई और पानी में डूबने लगी। इस दौरान बाकी दो बहनें उसे बचाने गईं और वो भी पानी में डूब गईं। डूबते हुए बच्चियों ने शोर मचाया तो आसपास के लोग वहां पहुंचे और बच्चियों को बाहर निकाला। उस दौरान तीनों बच्चियां अचेत अवस्था में थीं।

यह भी पढ़ें: झाबुआ: छात्रवृति के लिए भूखे-प्यासे 32KM पैदल चलकर कलेक्ट्रेट पहुंचे छात्र, कई बेहोश

सूचना मिलने पर दीनदयाल नगर थाना प्रभारी दिलीप राजोरिया मौके पर पहुंचे और तत्काल एंबुलेंस को सूचित किया। इस दौरान मौके पर ही दो बच्चियों ने दम तोड़ दिया जबकि एक बच्ची की सांस चल रही थी। काफी देर तक जब एंबुलेंस नहीं पहुंची तो थाना प्रभारी दिलीप राजोरिया ने अपने वाहन से बच्ची को जिला अस्पताल पहुंचाया। इस दौरान तीसरी बहन की भी मौत हो चुकी थी। बच्चियों के शव को ना तो एंबुलेंस मिली और ना ही अस्पताल में उनके लिए स्ट्रेचर की कोई व्यवस्था थी।

घटना की सूचना प्राप्त होने पर महापौर प्रह्लाद पटेल अस्पताल पहुंचे थे। यहां उन्हें अस्पताल में अव्यवस्थाओं को लेकर अवगत कराया गया। इसपर उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को कॉल कर नाराजगी जाहिर की और अस्पताल में खामियों को तत्काल दूर करने का निर्देश दिया।