Sehore: फर्जी छात्रों के नाम पर निकाली लाखों की स्कॉलरशिप

Scholarship scam in Sehore: सीहोर के 18 स्कूलों में फर्जी छात्रों को एडमिशन देकर निकाली लाखों की छात्रवृत्ति, मंत्री के आदेश के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

Updated: Sep 09, 2020 08:33 PM IST

Sehore: फर्जी छात्रों के नाम पर निकाली लाखों की स्कॉलरशिप

सीहोर। जिले में फर्जी एडमिशन के माध्यम से लाखों के स्कॉलरशिप निकालने का मामला सामने आया है। जिले में 12 वीं पास करने वाले बच्चों के नाम से अलग-अलग स्कूलों में एडमिशन देकर शिक्षा माफियाओं ने लाखों रुपए की छात्रवृत्ति निकाल ली। मामले का खुलासा होने पर शिक्षा विभाग के अफसर शिक्षा माफियाओं के बचाते नजर आए।

इस मामले में खुद स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई जरूर होगी। पूरे मामले की जांच जारी है। जहां लापरवाही सामने आएगी उन स्कूल संचालकों के खिलाफ एफआईआर भी की जाएगी। पर ऐसा कुछ भी होता नजर नहीं आ रहा है।

18 स्कूलों के खिलाफ शिकायत, केवल 6 पर की कार्रवाई

शिक्षा विभाग ने किसी स्कूल का रिकार्ड जब्त नहीं किया। 18 स्कूलों की शिकायत मिलने के बाद केवल 6 स्कूलों की मान्यता खत्म की गई है। उनपर कोई एफआईआर दर्ज नहीं कराई है। जबकि शिक्षा विभाग के संयुक्त संचालक ने अधिकारियों की बैठक में स्कूलों के रिकार्ड जब्त करने और एफआईआर करवाने के निर्देश दिए थे। स्कॉलरशिप घोटाले के आरोपी 18 स्कूलों में से शिक्षा विभाग ने केवल 6 स्कूलों की मान्यता निलंबित की है।

बाकी 12 स्कूलों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। संयुक्त संचालक आरएस तोमर के आदेश के बाद भी स्थानीय स्तर पर जांच में कोई तेजी नहीं आई। ऐसे में एक दिन पहले जेडी कार्यालय से ही मान्यता समाप्त करने के आदेश जारी किए गए है। वहीं इस मामले में सीहोर के जिला शिक्षा अधिकारी एसपी बिसेन का कहना है कि स्कूलों की मान्यता हमने समाप्त नहीं की, जेडी कार्यालय ने समाप्त की है। हमने सभी बीईओ को जांच सौंपी है, हमारे पास कोई रिपोर्ट नहीं आई है।

कैसे हुआ मामले का खुलासा

सीहोर जिले में करीब 18 स्कूलों ने 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर चुके छात्रों के नाम पर अपने स्कूल में अलग-अलग कक्षाओं में करीब 190 विद्यार्थियों को दाखिला दिया। और उनके छात्रों के नाम से लाखों रुपए की स्कॉलर्शिप निकाल ली। छात्रों के नाम और समग्र आईडी से इस बात का खुलासा हुआ कि ये विद्यार्थी तो 12वीं क्लास पास कर चुके हैं।  फिर उनके नाम से वजीफे का पैसा कैसे निकाला गया। सीहोर में 18 स्कूलों ने छात्रवृत्ति घोटाला कर लाखों रुपए की स्कॉलरशिप निकाल ली है। गौरतलब है कि इनमें से कई स्कूल तो ऐसे हैं जहां से एक-एक लाख से अधिक की स्कॉलरशिप निकाली गई है।

संयुक्त संचालक के आदेश के बाद भी DEO ने नहीं की कार्रवाई

इस मामले की खुलासा होने पर संयुक्त संचालक लोक शिक्षण आरएस तोमर ने मामले की जांच करने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए थे। जिसे डीईओ ने ठंडे बस्ते में डाल दिया। लेकिन पिछले दिनों सीहोर आए संयुक्त संचालक ने मामले में कोई प्रगति नहीं देखी। जिसके बाद उन्होंने स्कूलों का रिकार्ड जब्त करने और छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल स्कूल संचालकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। इस पर भी जिला शिक्षा विभाग ने कोई अमल नहीं किया था।

जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा जांच के लिए बनाई गई टीम की सूची के अनुसार सेंट पॉल स्कूल जारव, शास्त्री विद्या निकेतन हायर सेकंडरी स्कूल जावर, राजा भोज स्मृति विद्या मंदिर हाई स्कूल, विशाल आदर्श हायर सेकंडरी स्कूल, वैदिक पब्लिक मिडिल स्कूल निपानी, श्री गुरुकुल हायर सेकंडरी स्कूल, सरस्वती शिशु मंदिर कन्नौद मिर्जी, विशाल आदर्श हायर सेकंडरी स्कूल, केंब्रिज हायर सेकंडरी स्कूल खाचरौद, सुंदरम हाई स्कूल अरिनयाराम आष्टा, सर्वेज्ञा विद्या मंदिर, जेजे पब्लिक हायर सेकंडरी स्कूल आष्टा, एंजल पब्लिक स्कूल में भी फर्जी छात्रों के नाम पर छात्रवृत्ति निकाली गई है।

सीहोर में शिक्षा माफिया के हौसले बुलंद, जुर्म के बाद नहीं होती कार्रवाई

गौरतलब है कि सीहोर में शिक्षा माफिया का बोलबाला है। यहां के श्यामपुर क्षेत्र में एक परीक्षा केंद्र पर केंद्राध्यक्ष सहित पूरे स्टाफ के साथ जहर खुरानी का मामला सामने आय़ा था। वहीं आष्टा में फर्जी टीसी से फेल छात्रों को अगली कक्षा में एडमीशन दिया गया था, मामले का खुलासा होने पर लीपा-पोती कर दी गई थी।

बोर्ड परीक्षा में नकल पर सख्ती करने पर आष्टा ब्लॉक के धुराड़ाकलां के परीक्षा केंद्र अध्यक्ष और सहायक केंद्र अध्यक्ष पर जानलेवा हमला करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

वहीं आष्टा में एक परीक्षा केंद्र के अध्यक्ष द्वारा एक निजी स्कूल के शिक्षक ने बोर्ड परीक्षा के पेपर का फोटो खींचकर परीक्षा से आधे घंटे ही पहले ही पेपर वाट्सअप पर वायरल कर दिया था लेकिन दोषी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल स्कूल

नवोदित विद्या मंदिर भूपोड़        30     104460

तक्षशिला हायर सेकंडरी स्कूल    39     102340

सनसाईन कॉन्वेंट स्कूल          32     93180

डायमंड पब्लिक स्कूल           46     87110

ज्ञानदायिनी विद्या मंदिर         18     34960