पचमढ़ी में MP कैबिनेट का चिंतन शिविर शुरू, CM बोले- अमृत निकलेगा उसे जनता में बांटेंगे

चिंतन शिविर से पहले सीएम शिवराज ने मंत्रियों से कहा- दो दिन तक सारी चिंता छोड़ दें और सिर्फ चिंतन करें, कांग्रेस ने बताया नौटंकी

Updated: Mar 26, 2022, 02:56 PM IST

पचमढ़ी में MP कैबिनेट का चिंतन शिविर शुरू, CM बोले- अमृत निकलेगा उसे जनता में बांटेंगे

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार का दो दिवसीय चिंतन शिविर शनिवार की पचमढ़ी में शुरू हो चुका है। इस शिविर में सीएम शिवराज और मंत्रिपरिषद के सभी सदस्य शामिल हैं। बैठक शुरू करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि चिंतन से अमृत निकलेगा। उन्होंने मंत्रियों से कहा कि दो दिन तक सारी चिंता छोड़कर सिर्फ चिंतन करें।

सीएम चौहान ने कहा कि, 'हमने तय किया कि पचमढ़ी के प्राकृतिक सौंदर्य के बीच बैठकर बिना किसी आडंबर के हम गंभीर चिंतन करेंगे। कई बार मंत्रियों की बैठक होती है तो एसी टेंट, डोम पता नहीं क्या-क्या व्यवस्था करने की कल्पना होती है। कल शाम तक हमारा चिंतन चलेगा और लगातार हमको सोचना भी है। फैसले भी करने हैं गहराई से चिंतन करना है। निश्चित तौर पर इस चिंतन मंथन से जो अमृत निकलेगा, उसको हम जनता के बीच बाटेंगे, जनता के कल्याण के लिए, प्रदेश के विकास के लिए इसका उपयोग करेंगे।'

शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट मंत्रियों से कहा कि, 'आप 2 दिन तक सारी चिंताएं छोड़ दीजिए। कॉन्स्टिटुएंसी में क्या हो रहा है, क्षेत्र और दुनिया में क्या हो रहा है। वह सब ठीक-ठाक हो जाएगा उसकी कोई चिंता ना करें। हम शरीर मन बुद्धि और आत्मा यहीं केंद्रित करें और गहराई से चिंतन करें।'

यह भी पढ़ें: सतना में कोरोना वैक्सीन लेते ही बेहोश हुए 12 बच्चे, सांस लेने में परेशानी, 8 को मैहर रेफर किया गया

बता दें कि चिंतन शिविर के लिए शुक्रवार देर शाम बस से सीएम समेत सभी मंत्री पचमढ़ी के लिए रवाना हुए थे। सीएम चौहान सुबह से ही चिंतन शिविर की तस्वीरें और वीडियो साझा कर रहे हैं। सुबह सबसे पहले सीएम चौहान ने अखबार पढ़ते हुए एक वीडियो शूट कराया। इसे ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि, 'शांति प्रकृति के शब्द हैं, हरियाली है सौंदर्य, कलरव है पक्षियों का उल्लास, मंद-मंद बहती ठंडी हवा देती नई ऊर्जा, सूर्य से पल-पल बढ़ता उजास।'

इसके बाद उन्होंने योग करते हुए एक वीडियो शूट कराया। इसे पोस्ट करते हुए उन्होंने लिखा कि, 'ईश्वर की प्रार्थना अंधकार से प्रकाश की ओर बढ़ते रहने की प्रेरणा और योग असीम ऊर्जा का स्रोत है। परमपिता ईश्वर से प्रार्थना है कि सभी का कल्याण करें, कृपा दृष्टि बनाए रखें।' इसके बाद उन्होंने पौधरोपण करते हुए और चाय पीते हुए तस्वीरें पोस्ट की।

चिंतन बैठक में मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना को पुनः प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। सीएम कार्यालय ने ट्वीट कर बताया कि, 'अप्रैल माह में 2- 3 ट्रेन भेजी जाएंगी। ये योजना गंगा स्नान, काशी कॉरिडोर, संत रविदास और कबीरदास के स्थलों के दर्शन के साथ शुरू होगी। पुनः शुरू होने वाली तीर्थ दर्शन यात्रा में मुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्री भी ट्रेन में तीर्थ यात्रियों के साथ जाएंगे। बोगी में स्पीकर सिस्टम के माध्यम से तीर्थ स्थलों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। सरकार कुछ तीर्थ स्थलों को वायु मार्ग से भेजने पर विचार करेगी।'

कांग्रेस ने इस पूरे इवेंट को नौटंकी करार दिया है। युवा कांग्रेस नेता विवेक त्रिपाठी ने कहा कि, 'बीजेपी में एक से बढ़कर एक ड्रामेबाज भरे हुए हैं। पचमढ़ी में शिवराज मंत्रिमंडल की नौटंकी शुरू हुई है। इन्होंने शर्म बेच खाया है। जनता महंगाई से त्रस्त है और सीएम चाय की चुस्की लेने पचमढ़ी गए हैं। इन ढोंगियों को जनता 2023 में सबक सिखाएगी।'