नक्सली हमले में रीवा का जवान शहीद, पूरे गांव की आंखें नम

लक्ष्मीकांत द्विवेदी के पिता अपने बेटे की मौत पर विश्वास नहीं कर पा रहे हैं, शहीद जवान की दो बेटियां हैं

Publish: Mar 05, 2021, 12:47 PM IST

नक्सली हमले में रीवा का जवान शहीद, पूरे गांव की आंखें नम
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

रायपुर/भोपाल। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों के हमले में मध्यप्रदेश का एक जवान शहीद हो गया। शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी मध्यप्रदेश के रीवा के रहने वाले थे। लक्ष्मीकांत द्विवेदी रीवा जिले के त्योंथर तहसील के बरछा गांव के रहने वाले थे। गांव में उनकी शहादत की खबर सुनते ही लोगों की आंखें भर आई हैं। 

लक्ष्मीकांत छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स की 22वीं बटालियन के जवान थे। उनके पार्थिव शरीर को हेलीकॉप्टर के ज़रिए रायपुर लाया गया है। शुक्रवार दोपहर को उनके पार्थिव शरीर को उनके गांव बरछा लाया जाएगा। जहां पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की जाएगी।

लक्ष्मीकांत द्विवेदी की शहादत के बाद पूरे परिवार का रो रो कर हाल बुरा है। लक्ष्मीकांत की दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी रुचि सात साल जबकि छोटी बेटी महज़ तीन साल की है। लक्ष्मीकांत द्विवेदी के पिता बताते हैं कि जब आखिरी बार उनकी अपने बेटे से बात हुई थी, तब बेटे ने होली की छुट्टी में घर आने का वादा किया था। पिता ने बताया कि बेटे ने कहा था कि वह घर आ कर उनका इलाज कराएगा।