मध्यप्रदेश में बढ़ता चिकनपॉक्स का खतरा ,स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवाइजरी

प्रदेश में पिछले एक महीने में छतरपुर में 3, छिंदवाड़ा में 13, दतिया में 6, नीमच में 3, भोपाल में 3, धार में 3 और खंडवा जिले में 1 मरीज सहित कुल 31 मरीज चिकनपॉक्स के मिले है।

Updated: Jun 06, 2022, 09:50 AM IST

मध्यप्रदेश में बढ़ता चिकनपॉक्स का खतरा ,स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवाइजरी
Image Courtesy : Hindustan Times

भोपाल। मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने चिकनपॉक्स के बढ़ते मामलों के बीच रोकथाम और उपचार के लिए सभी जिला चिकित्सा अधिकारियों को एडवाइजरी जारी की है। स्वास्थ्य आयुक्त एवं सचिव डॉ सुदाम खाड़े ने बताया कि सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को चिकनपॉक्स की रोकथाम और उपचार के लिए जरूरी प्रयास करने के निर्देश जारी किए हैं।

डॉ सुदाम खाड़े ने आगे कहा कि पिछले एक महीने में छतरपुर, छिंदवाड़ा, दतिया, नीमच, भोपाल, धार, खंडवा में चिकनपॉक्स के कुल 31 केस दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में छतरपुर में 3, छिंदवाड़ा में 13, दतिया में 6, नीमच में 3, भोपाल में 3, धार में 3 और खंडवा जिले में 1 मरीज चिकनपॉक्स के मिले है। भोपाल में चिकनपॉक्स के ये मामले ग्रामीण क्षेत्रों से ज्यादा आए हैं।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा: दिग्विजय सिंह की अध्यक्षता में हुई सेंट्रल प्लानिंग ग्रुप की पहली बैठक, राहुल गांधी भी रहे मौजूद

चिकन पॉक्स जिसे हम चेचक या आम बोलचाल की भाषा में छोटी माता के नाम से जाना जाता है। चिकन पॉक्स एक वायरल संक्रमण और वायरस जनित रोग हैं जो कि वैरिसेला जोस्टर नामक वायरस से फैलता है और सामान्यतः व्यस्कों की तुलना में बच्चों, गर्भवती महिलाओं को अधिक प्रभावित करता है।