उज्जैन के निजी अस्पताल में झुलसी महिला की मौत, परिजनों ने अस्पताल के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की

रविवार को उज्जैन के पाटीदार अस्पताल में आग लगने से झुलसी बुजुर्ग महिला की मौत से गुस्साए परिजनों ने थाने में की शिकायत, अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने के लिए दिया आवेदन

Updated: Apr 06, 2021, 04:29 PM IST

उज्जैन के निजी अस्पताल में झुलसी महिला की मौत, परिजनों ने अस्पताल के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की
Photo Courtesy: Free press journal

उज्जैन। शहर के निजी पाटीदार अस्पताल में लगी आग से झुलसी बुजुर्ग महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई। रविवार को 86 वर्षीय सावित्री देवी पाटीदार अस्पताल में लगी आग में झुलस गई थीं। उनका इलाज इंदौर के अस्पताल में चल रहा था। जहां उन्होंने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई की मांग की है।परिजनों ने थाने में शिकायत कर अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

बुजुर्ग महिला की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का आरोप है कि पाटीदार अस्पताल में लापरवाही की वजह से उनका मरीज जल गया। परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन, कर्मचारियों पर मरीजों की अनदेखी के गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि अस्पताल कर्मचारी आग लगने पर भाग खड़े हुए, जिससे गंभीर बीमार मरीज झुलस गए।

गौरतलब है कि रविवार को जब आग लगी थी तब इस अस्पताल में 80 मरीज भर्ती थे, आग की वजह से चार मरीज झुलस गए थे। जिनमें से दो मरीजों की हालत गंभीर थी। 86 वर्षीय सावित्री श्रीवास्तव को इंदौर के निजी अस्पताल में ले जाया गया था। जहां मंगलवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। अब परिजनों ने मामले की शिकायत थाने में कर न्याय की मांग की है।

और पढ़ें: उज्जैन के निजी अस्पताल में लगी भीषण आग, लगभग 80 मरीज़ थे भर्ती, आग से 4 के झुलसने की खबर

वहीं इस मामले में उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने अस्पताल में लगी आग के कारणों की जांच के लिए चार सदस्यों की एक जांच कमेटी गठित की है। यह दल पाटीदार अस्पताल प्रबंधन में खामियों की विस्तृत रिपोर्ट देगा। इस अस्पताल में आग के बाद नगर निगम भी एक्शन में आ गया है। उज्जैन के अन्य अस्पतालों को भी नोटिस भेजा गया है, उनसे अग्नि सुरक्षा इंतजाम की जानकारी मांगी गई है।