शराबबंदी के मुद्दे पर उमा भारती ने पीछे खींचे हाथ, राज्य सरकार के नशामुक्ति कार्यक्रम में हुईं शामिल

पूर्व सीएम उमा भारती ने गांधी जयंती के मौके पर राजधानी में पदयात्रा निकालने का ऐलान किया था, लेकिन उन्होंने सिर्फ सांकेतिक पदयात्रा ही निकाला, इसके बाद वे राज्य सरकार के कार्यक्रम में शामिल हुईं।

Updated: Oct 02, 2022, 01:12 PM IST

शराबबंदी के मुद्दे पर उमा भारती ने पीछे खींचे हाथ, राज्य सरकार के नशामुक्ति कार्यक्रम में हुईं शामिल

भोपाल। बीते एक-डेढ़ साल से मध्य प्रदेश में शराबबंदी की अलख जगा रहीं पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने रविवार को गांधी जयंती के मौके पर राजधानी में पदयात्रा निकालने का ऐलान किया था। लेकिन आखिरकार उन्होंने इसे होल्ड कर दिया। इतना ही नहीं शराबबंदी के मुद्दे पर शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाली उमा आज शासकीय कार्यक्रम में भी शामिल हुईं।

उमा भारती ने इसकी जानकारी देते हुए ट्वीट किया, 'आज एक गर्व का दिन है गांधी जयंती पर हमारी मध्य प्रदेश की गौरवशाली सरकार के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह जी चौहान प्रदेश व्यापी शराब एवं नशामुक्ति अभियान का शुभारंभ लाल परेड मैदान भोपाल में करेंगे जिसमें मैं तथा अन्य सम्मानीय अतिथिगण उपस्थित रहेंगे। इस सामाजिक अभियान  का मैं तथा मेरे सहयोगी पूरी तरह से साथ देंगे।'

उन्होंने आगे लिखा कि, 'मूल रूप से यह माता बेटी बाई शिक्षण समिति के द्वारा आयोजित हमारा कार्यक्रम था किंतु मुख्यमंत्री जी ने सरकारी कार्यक्रम तय किया तब हमने तय किया कि हमारे ज्यादातर लोग सरकारी कार्यक्रम में ही भागीदारी करेंगे। कुछ सीमित संख्या में हम अपनी पूर्व घोषणा के अनुसार भोपाल के पीर गेट पर कर्फ्यू वाली देवी जी की आरती फिर तलैया में काली मंदिर में काली देवी जी की आरती फिर नीलम पार्क में सबोधन फिर नीलम पार्क से मिंटो हॉल गांधी जी की प्रतिमा तक मैं तथा मेरे साथ कुछ महिलाएं पैदल चलेंगी।'

बता दें कि राजधानी भोपाल स्थित लाला परेड मैदान में राज्य सरकार द्वारा नशमुक्ति अभियान को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया गया है। सीएम चौहान ने इस बात की जानकारी देते हुए लिखा कि, 'आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयंती पर भोपाल से नशा मुक्ति अभियान का शुभारंभ कर रहा हूं। बापू ने कहा था कि शराब शरीर और आत्मा दोनों का नाश करती है। नशा उन्नत समाज, समृद्ध प्रदेश और सशक्त देश के संकल्प की सिद्धि में बाधक है। आइए, नशामुक्ति हेतु जागरूकता की ज्योत जलाएं।'

विपक्षी दल कांग्रेस ने इसपर निशाना साधा है। कांग्रेस मीडिया विभाग के प्रमुख केके मिश्रा ने ट्वीट किया, 'अक्लमंद सिर्फ "हम" बाकी सब मूर्ख! गली-गली बिकवा रहे हैं "शराब", सुबह से ही खुल जाती है "खिड़की" आज नशे के खिलाफ जागृत करेंगे, शिवराज जी शपथ दिलाएंगे। बापू के विचारों को आत्मसात कर रहा है - आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश?'