उमरिया में स्कूली छात्रा से गैंगरेप, मध्य प्रदेश में एक हफ्ते में तीन सामूहिक दुष्कर्म

मध्य प्रदेश में नहीं थम रहा गैंगरेप का सिलसिला, उमरिया में जान से मारने की धमकी देकर नवीं की छात्रा से गैंगरेप, 9 आरोपियों में से सात गिरफ्तार, 2 अब भी फरार

Updated: Jan 16, 2021, 03:43 PM IST

उमरिया में स्कूली छात्रा से गैंगरेप, मध्य प्रदेश में एक हफ्ते में तीन सामूहिक दुष्कर्म
Photo Courtesy: Hindi Rush

उमरिया। मध्य प्रदेश में बलात्कार के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। सीधी, खंडवा, ग्वालियर के बाद उमरिया में दरिंदगी का मामला सामने आया है। उमरिया के कोतवाली थाना इलाके में 13 साल की नाबालिग बच्ची से गैंगरेप हुआ है। आरोपियों ने छात्रा को बंधक बनाकर अलग-अलग जगहों पर ले जाकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 9 लोगों ने बच्ची के साथ गैंगरेप किया है। उमरिया पुलिस ने फिलहाल सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, दो की तलाश जारी है।

नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा के पिता जबलपुर में नौकरी करते हैं और मां उमरिया में रहती हैं। बच्ची वैसे तो अपने पिता के पास रहकर जबलपुर में पढ़ाई करती है, लेकिन स्कूल बंद होने की वजह से वो इन दिनों अपनी मां के पास रह रही थी। 11 जनवरी को छात्रा किसी काम से बाजार गई थी। वहीं से आरोपी राहुल कुशवाहा और आकाश सिंह ने किसी बहाने उसे अपनी बाइक पर बैठा लिया और भरौला ले गए। वहां सुनसान जगह पर उसके साथ रेप किया। उसके बाद आरोपियों ने उसे एक ढाबे में ले जाकर बंधक बनाया। वहां ढाबा चलाने वाले और उसके साथियों ने भी बच्ची के साथ दरिंदगी की।

इस बीच बच्ची उनसे घर जाने देने की गुहार करती रही लेकिन हैवानों ने उसकी एक नहीं सुनी। कई दिनों बाद आरोपियों ने एक परिचित के ट्रक में बैठाकर बच्ची को रवाना किया। उस ट्रक ड्राइवर ने भी बच्ची के साथ रेप किया और फिर उसे विलायत कला-बड़वारा के पास एक टोल नाके पर छोड़कर भाग गया। नाबालिग बच्ची ने वहां से उमरिया जाने के लिए एक और ट्रक में लिफ्ट मांगी। बदकिस्मती से उस ट्रक ड्राइवर ने भी मासूम की बेबसी का फायदा उठाकर उसका रेप किया।

और पढ़ें: सीधी में विधवा के साथ दरिंदगी, कांग्रेस ने कहा राज्य में चरम पर है शवराज

इतने हैवानों की शिकार बनती हुई यह बच्ची किसी तरह अपनी जान बचाकर घर पहुंची और पूरी कहानी बताई। जिसके बाद कोतवाली थाने में केस दर्ज करवाया गया। पुलिस ने 9 आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट समेत कई धाराओं में केस दर्ज किया है। इनमें से सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि दो आरोपी फरार हैं, जिन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है। 

मध्य प्रदेश में हाल ही में सीधी में विधवा महिला से दरिंदगी किए जाने का मामला सामने आया था। अमिलिया थाना क्षेत्र में तीन बदमाशों ने गांव की एक विधवा महिला के साथ गैंगरेप किया था। उन हैवानों ने महिला के प्राइवेट पार्ट्स में सरिया डाल दिया था, जिसके बाद से पीड़ित महिला गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है।

ग्वालियर के गिरवाई थाना इलाके में 16 वर्षीय छात्रा से गैंग रेप किया गया। छात्रा दूध लेकर लौट रही थी। तभी तीन आरोपियों ने उसे बंधक बनाया, विरोध करने पर उसे पीटा और उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

खंडवा में 13 साल की मासूम बच्ची से बलात्कार के बाद हत्या करने का मामला उजागर हुआ है। खंडवा जिले के धनगांव इलाके के जमनिया गांव में बच्ची दुकान से बिस्किट खरीदने गयी थी। बच्ची को अकेला देखकर अधेड़ किराना व्यापारी ने रेप किया और मामला छिपाने के लिए गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद उसने शव को दुकान की छत पर छिपा दिया। बच्ची की तलाश में दिनभर परिजन भटकते रहे जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गई। पुलिस ने मामले की जांच की और आरोपी दुकानदार को गिरफ्तार किया। सीधी, खंडवा, ग्वालियर के बाद उमरिया में दुष्कर्म की घटना से लोगों में आक्रोश है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए जा रहे हैं। कांग्रेस ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।