MP में आज से विधानसभा का शीतकालीन सत्र, कांग्रेस लाएगी अविश्वास प्रस्ताव, हंगामे के आसार

सत्र में विपक्ष ने सरकार को घेरने के लिए तगड़ी मोर्चाबंदी की है, कुल 1632 सवाल लगाए गए हैं, अविश्वास प्रस्ताव को लेकर हंगामे के आसार हैं।

Updated: Dec 19, 2022, 09:43 AM IST

MP में आज से विधानसभा का शीतकालीन सत्र, कांग्रेस लाएगी अविश्वास प्रस्ताव, हंगामे के आसार

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र सोमवार 19 दिसंबर से शुरु हो रहा है। इस बार के सत्र में विपक्ष ने सरकार को घेरने के लिए तगड़ी मोर्चाबंदी की है। जानकारी के मुताबिक विधानसभा में 1632 सवाल लगाए गए हैं। इतना ही नहीं विपक्षी दल कांग्रेस शिवराज सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी लाने वाली है। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर सदन में हंगामे के आसार हैं।

शीतकालीन सत्र 19 दिसंबर से शुक्रवार 23 दिसंबर, 2022 तक चलेगा। इस पांच दिवसीय सत्र में सदन की पांच बैठकें होंगी। सत्र में ज्यादा सवाल होने के चलते सदन की कार्रवाई रात आठ बजे तक चलाने का फैसला हुआ है। दरअसल, रविवार शाम मध्य प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष गिरीश गौतम की अध्यक्षता में विधानसभा भवन में सर्वदलीय बैठक आयोजित हुई। इस बैठक में सर्वसम्मति से तय किया गया कि सत्र पूरे शांतिपूर्वक तरीके से चले और जरूरत पड़ने पर सत्र शाम 5:30 बजे के बाद भी चलाया जाए। 

उधर पीसीसी चीफ कमलनाथ के आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक आयोजित हुई। इस दौरान सर्वसम्मति से शिवराज सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला हुआ है। बैठक को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार हर मोर्चे पर विफल हो गई है और यह जनता के बीच विश्वास खो चुकी है। इन परिस्थितियों में कांग्रेस विधायक विधानसभा के शीतकालीन सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगे। 

इस दौरान कांग्रेस मध्य प्रदेश के प्रभारी महामंत्री जयप्रकाश अग्रवाल ने कहा कि हमारे विधायकों की यह जिम्मेदारी है कि वह पुरजोर ढंग से जनता के मुद्दे विधानसभा में उठाएं। नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने शिवराज सरकार के खिलाफ विस्तृत आरोप पत्र तैयार कर लिया है। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान इस आरोप पत्र के माध्यम से कांग्रेस पार्टी भाजपा की जन विरोधी नीतियों को घेरेगी।