पूर्व मंत्री उमंग सिंघार की महिला मित्र ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखा- तुम्हारी जिंदगी में जगह चाहती थी

उमंग सिंघार बोले मुझे इस बात की जानकारी नहीं थी कि वह मानसिक रूप से बीमार थी, घटना के समय मैं घर पर नहीं था

Updated: May 17, 2021, 08:17 PM IST

पूर्व मंत्री उमंग सिंघार की महिला मित्र ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखा- तुम्हारी जिंदगी में जगह चाहती थी
Photo Courtesy: IBC24

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक हाईप्रोफाइल सुसाइड केस सामने आया है। राज्य के पूर्व वन मंत्री उमंग सिंघार के भोपाल स्थित बंगले पर उनकी महिला मित्र ने आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि पुलिस ने महिला के पर्स से एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें उसने लिखा है कि वह केवल सिंघार की जिंदगी में अपनी जगह चाहती है। मामले पर कांग्रेस विधायक सिंघार ने मृतक महिला को अपनी अच्छी दोस्त बताया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक 39 वर्षीय महिला सोनिया भारद्वाज हरियाणा में अंबाला के बलदेव नगर की रहने वाली थी। महिला शादी-शुदा थी और उनके पति का नाम संजीव कुमार है। हालांकि, वह पिछले काफी दिनों से वह उमंग सिंघार के शाहपुरा स्थित 238 बी बंगले में रह रही थी। रविवार शाम को उसने सिंघार के आवास पर ही आत्महत्या कर लिया। महिला ने कमरे के भीतर ग्रिल से कपड़ा बांधकर फांसी लगाई है। 

पुलिस को शुरुआती जांच में यह जानकारी मिली है कि महिला अक्सर सिंघार के बंगले पर रुकती थी। पुलिस ने महिला के पर्स से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है, जिसमें महिला ने लिखा है कि सिंघार बहुत गुस्सा करते हैं। महिला ने इस नोट में यह भी लिखा है कि सिंघार की जिंदगी में वह अपनी जगह चाहती थी। लेकिन ऐसा नहीं हो पाया, जिसे वह बर्दाश्त नहीं कर सकी। 

यह भी पढ़ें: गौ मूत्र पीने से दूर होता है फेफड़ों का इंफेक्शन, मैं लेती हूं इसलिए मुझे नहीं हुआ कोरोना- साध्वी प्रज्ञा

इस घटना को लेकर उमंग सिंघार का भी बयान सामने आया है। सिंघार ने उसे मनोरोगी करार देते हुए कहा है कि यदि मुझे पहले पता होता कि वह मानसिक तौर पर अस्वस्थ हैं तो मैं समय रहते उनका इलाज करवा पाता। सिंघार ने कहा है कि, 'वह मेरी अच्छी दोस्त थी और यह घटना अत्यंत हृदय विदारक है। मैं खुद भी हतप्रभ हूं कि आखिर उन्होंने ऐसा क्यों किया?' सिंघार ने बताया कि पिछले 3 दिनों से वे अपने विधानसभा क्षेत्र गंधवानी में थे। बहरहाल पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि यह खालिस सुसाइड का मामला है या आत्महत्या के लिए उकसाने का।

इस मसले पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान भी सामने आया है, जिसमें उन्होंने महिला की मां से लड़की के सुसाइड नोट को पहचानने की बात कही है।